Contact Information

Four Corners Multimedia Private Limited Mossnet 40, Sector 1, Shankar Nagar, Raipur, Chhattisgarh - 492007

चंडीगढ़। पंजाब की आप सरकार नशे के खिलाफ सख्त है. मुख्यमंत्री भगवंत मान ने आज ड्रग्स के मुद्दे पर उच्चाधिकारियों के साथ बैठक की. इस बैठक में पुलिस कमिश्नर, एसएसपी और डिप्टी कमिश्नर मौजूद रहे. बैठक में सीएम भगवंत मान ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि किसी भी हाल में पंजाब से ड्रग्स माफियाओं का सफाया करना है और इसके लिए अफसरों को भी अपनी जिम्मेदारी लेनी होगी. उन्होंने दो टूक शब्दों में कह दिया है कि जहां कहीं भी नशा बिकता हुआ पाया जाएगा, उस एरिया के थाने के SHO और SSP पर कार्रवाई होगी. इसके अलावा सभी एसएसपी और पुलिस कमिश्नरों को सीएम मान ने कहा है कि अगर स्पेशल टास्क फोर्स कोई नशा पकड़े या कहीं से शिकायत मिले, तो तुरंत पर्चा दर्ज किया जाए. पुलिस उसकी सप्लाई तक पहुंचने की कोशिश करे. उन्होंने कहा कि अफसरों को पंजाब में ड्रग्स समस्या खत्म करने के लिए रोडमैप बना सख्त हिदायतें दी हैं.

ये भी पढ़ें: पंजाब में प्रशासनिक सर्जरी, 32 IAS और PCS अफसरों का तबादला, दिलीप कुमार बने इन्वेस्टमेंट प्रमोशन के प्रिंसिपल सेक्रेटरी

नशा करने वालों का कराया जाएगा इलाज- सीएम भगवंत मान

सीएम भगवंत मान ने कहा कि जो नशा करते हैं, वह तस्कर नहीं मरीज हैं. इसलिए हम उनका इलाज कराएंगे. इसके लिए 208 ओट क्लीनिक को बढ़ाकर एक हजार करेंगे. उन्होंने कहा कि नशा छोड़ने वाले युवक अब आगे नशेड़ियों की काउंसलिंग करेंगे. उन्हें फ्री नहीं बल्कि सरकार पैसे देकर हायर करेगी. भगवंत मान ने कहा कि नशा छोड़ने वालों की काउंसलिंग करने के अलावा उन्हें रोजगार भी दिलाया जाएगा. सरकार उन्हें ट्रैक भी करेगी, ताकि वे दोबारा नशे के दलदल में नहीं फंसें. मान सरकार स्पेशल टास्क फोर्स का भी पुनर्गठन कर रही है. इसमें हर जिले में अब STF की 2-2 और बॉर्डर एरिया में 4-4 टीमें तैनात होंगी. STF की टीमों को पूरा सहयोग मिले, इसके लिए CM भगवंत मान ने आज सभी जिलों के DC, SSP और पुलिस कमिश्नरों को आदेश जारी कर दिए हैं.

ये भी पढ़ें: जानिए मोहाली ब्लास्ट पर कवि कुमार विश्वास ने ऐसा क्यों कहा- ‘सब दहेज में पहले ही तय हो गया था’