Contact Information

Four Corners Multimedia Private Limited Mossnet 40, Sector 1, Shankar Nagar, Raipur, Chhattisgarh - 492007

सीहोर। ‘बुली बाई’ ऐप का मामला अब मध्य प्रदेश के सीहोर से भी जुड़ गया है. दिल्ली पुलिस ने कोठरी स्थित वीआईटी यूनिवर्सिटी भोपाल के एक छात्र को गिरफ्तार किया है. उससे मामले पूछताछ की जा रही है. इससे पहले बुली बाई ऐप मामले में बेंगलुरु के एक 21 वर्षीय युवक और मुख्य आरोपी एक महिला को उत्तराखंड से गिरफ्तार किया जा चुका है.

जानकारी के मुताबिक गिरफ्तार युवक सीहोर के वैल्लोर टेक्निकल यूनिवर्सिटी में बीटेक द्वितीय वर्ष ब्रान्च कम्प्यूटर साइंस का छात्र है. जिसकी उम्र 20 साल और नाम नीरज विश्नोई है, जो कि असम के दिगम्बर जोरहट का रहने वाला है. बुली बाई ऐप मामले में इस छात्र का नाम आने के बाद से सीहोर पुलिस भी सक्रिय हो गई है.

MP पंचायत चुनाव से जुड़ी खबर: अब सरपंच और जनपद अध्यक्ष को नहीं मिलेंगे पंचायत के अधिकार, सरकार ने सभी सीईओ को दिए निर्देश

छात्र कॉलेज से रेस्टीकेट

इस मामले में यूनिवर्सिटी के जिम्मेदारों से बात की गई, तो प्रबंधन कार्य देख रहे अमित सिंह का कहना है कि छात्र ने वर्ष 2020 में कॉलेज में प्रवेश लिया था, लेकिन वह एक बार भी क्लास नहीं आया है. वह ऑनलाइन क्लास अटैंड कर रहा था. इस पूरे प्रकरण से कॉलेज प्रबंधन का कोई लेना देना नहीं है. कॉलेज ने छात्र को रेस्टीकेट कर दिया है.

भोपाल पुलिस से ये उम्मीद नहीं थी! सूदखोरी से तंग आकर महिला ने पिया फिनाइल, पुलिस ने मदद नहीं की तो उठाया आत्मघाती कदम

क्या है पूरा मामला ? 

एक महिला पत्रकार ने बुल्ली बाई ऐप पर ‘डील ऑफ द डे’ बताकर बेची जा रही अपनी तस्वीर को शेयर किया. पत्रकार ने ट्विटर पर कहा कि “यह बहुत दुखद है कि एक मुस्लिम महिला के रूप में आपको अपने नए साल की शुरुआत इस डर और घृणा के साथ करनी पड़ रही है.” पार्टी लाइन से हटकर नेताओं ने अल्पसंख्यक समुदाय की महिलाओं के साइबर उत्पीड़न की निंदा की है.

नाइट कर्फ्यू में जश्न, क्या नेताजी को छूट है ? रात 12 बजे डीजे की धुन पर बीजेपी नेता का मनाया गया जन्मदिन, पुलिस बनी रही तमाशबीन, देखें VIDEO

दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की है. कई लोगों ने इसके लिए दक्षिणपंथी तत्वों को जिम्मेदार ठहराया है. ऐप पर सैकड़ों मुस्लिम महिलाओं को “नीलामी” के लिए सूचीबद्ध किया गया था, जिनकी तस्वीरों को बिना अनुमति से लिया गया था और उनसे छेड़छाड़ की गई थी. एक साल से भी कम समय में ऐसा दूसरी बार हुआ है.

Read more- Health Ministry Deploys an Expert Team to Kerala to Take Stock of Zika Virus