कांग्रेस पर सांसद सुनील सोनी का पलटवार, कहा- पहले मुख्यमंत्री, स्वास्थ्य मंत्री को एम्स भेजें, फिर कांग्रेस के लोग नसीहतें दें

सासंद सोनी ने कांग्रेस की बयानबाजी को शर्मनाक और निकृष्ट राजनीति की परिचायक बताया है. उन्होंने कहा कि सांसद निधि की राशि देश को दी है, उसका अंश छत्तीसगढ़ को भी मिलेगा. रायपुर लोकसभा क्षेत्र के लिए सांसद निधि की राशि में कमी नहीं होगी.

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष व रायपुर संसदीय क्षेत्र के सांसद सुनील सोनी ने कोरोना वायरस संक्रमण के वैश्विक संकट के दौर में भी कांग्रेस द्वारा की जा रही बयानबाजी को शर्मनाक और निकृष्ट राजनीति का परिचायक बताया है. सोनी ने कहा कि कांग्रेस के लोग यह नसीहत देने से बाज आएँ कि सांसद के नाते यह दौरा उन्हें दस दिन पहले करना था. जिस कांग्रेस के सत्ताधीश और बयानबाज नेता आज तक एक बार भी एम्स में झाँकने तक नहीं गए हैं, वे किस मुँह से नसीहतें देने का अधिकार रखते हैं? प्रदेश के मुख्यमंत्री, स्वास्थ्य मंत्री आदि आज तक इस संस्थान में नहीं पहुँचे हैं, जबकि वे अच्छी तरह इस बात से वाकिफ हैं कि छत्तीसगढ़ में कोरोना महामारी की जाँच और इलाज का काम एक मात्र संस्थान एम्स में हो रहा है. सोनी ने कहा कि कांग्रेस के सत्ताधीश और दीगर नेता अपने बयानों से कोरोना के खिलाफ जंग लड़ रहे सेवाभावी अधिकारियों एवं कर्मचारियों का मनोबल तोड़ने में लगे हैं.

सांसद सोनी ने कहा कि शनिवार को उनके (सोनी के) एम्स निरीक्षण पर कांग्रेस के लोगों के पेट में मरोड़ क्यों उठ रहा है? एक सांसद और एम्स प्रबन्धन का निर्वाचित सदस्य होने के नाते उन्होंने एम्स में कोरोना के खिलाफ़ जारी लड़ाई में लगे सभी डॉक्टर्स, नर्सेस, अन्य सभी सेवाभावी कर्मचारियों के साथ बैठकर पूरे अभियान की समीक्षा की और कोरोना पर प्रभावी नियंत्रण रखने के लिए एम्स के स्टाफ को बधाई देते हुए उनका मनोबल बढ़ाया. सोनी ने कहा कि वे प्रदेश में कोरोना संक्रमित पहला मरीज मिलने के बाद से लगातार एम्स के डॉक्टर्स, नर्सेस, पीड़ित परिवारों आदि से सम्पर्क में हैं और इस महामारी के रोकथाम के प्रयासों की समीक्षा कर रहे हैं. कांग्रेस के लोग पहले एम्स तथा पीड़ितों से तस्दीक़ कर तथ्यों की सही जानकारी जुटाएँ और फिर कुछ कहें. कांग्रेस के इस कटाक्ष पर कि सिविल लाइन निवास से एम्स तक का सफर करने में सांसद को दस दिन का समय लगा. इसी सिविल लाइन से एम्स तक का सफर मुख्यमंत्री अब तक तय नहीं कर पाए हैं, क्या कांग्रेस के लोगों को यह नजर नहीं आ रहा है? सांसद सोनी ने कहा कि बेशर्मी की पराकाष्ठा करते हुए कांग्रेस के लोग अपने बयानों से जिस तरह की निकृष्ट राजनीति करके कोरोना को रोकने में लगे सभी सेवाभावी लोगों का मनोबल तोड़ने का काम कर रहे हैं, वह बेहद निन्दनीय है.

सोनी ने कहा कि भाजपा के पदाधिकारी, कार्यकर्त्ता आदि कोरोना के मद्देनजर जारी लॉकडाऊन से परेशान जरूरतमंद लोगों के लिए अनाज व अन्य खाद्य सामग्रियों का संकलन कर रहे हैं और कांग्रेस के लोग मुख्यमंत्री की फोटो वाले झोलों में इन सामग्रियों का वितरण करके इसमें भी श्रेय लेने की राजनीति करके निकृष्टता की हदें पार कर रहे हैं. सोनी ने कहा कि प्रदेश सरकार ने अपनी ओर से अब तक एक पैसे की भी मदद जरूरतमंदों को मुहैया नहीं कराई है और अपने आचरण से एम्स के सेवाभावी अधिकारियों – कर्मचारियों सहित भाजपा व सहयोग करने वाली अन्य सभी संस्थाओं की भावनाओं से खिलवाड़ भी किया है। हमारी मांग है कि मुख्यमंत्री, स्वास्थ्य मंत्री आदि एम्स जाकर कोरोना की रोकथाम के कार्यों की समीक्षा करें.

प्रदेश भाजपा उपाध्यक्ष व सांसद सोनी ने सांसद निधि की राशि पीएम केयर्स में देने पर कांग्रेस की आपत्ति को फिजूल बताया और कहा कि सांसद निधि का यह पैसा सभी सांसदों ने देश को दिया है और इसका एक हिस्सा छत्तीसगढ़ को भी मिलेगा. उन्होंने प्रस्ताव मिलने पर रायपुर लोकसभा क्षेत्र में सांसद निधि से प्रदेश सरकार को जरूरी सामग्रियों के लिए राशि देने पर सहमति भी दी है, लेकिन अब तक प्रदेश सरकार की ओर से कोई प्रस्ताव उनके पास नहीं आया है. रायपुर लोकसभा क्षेत्र में कोरोना की रोकथाम में सांसद निधि की राशि में कोई कमी नहीं आने दी जाएगी. प्रदेश सरकार और कांग्रेस के लोग केवल पैसा इकठ्ठा करने में लगे हैं और जरूरी सामग्रियाँ न तो जरूरतमंदों को मुहैया कराई जा रही है और न ही चिकित्सा के लिए कोई आवश्यक प्रबन्ध किए जा रहे हैं. सोनी ने एक बार पुनः कोरोना की रोकथाम में लगे सभी डॉक्टर्स, नर्सेस, पुलिस, सफाईकर्मी सहित सेवाभावी अधिकारियों-कर्मचारियों को उनके परिश्रम, साहस, संकल्प और संयम का परिचय देने के लिए बधाई दी.

सांसद सोनी ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के आह्वान का मजाक उड़ाए जाने पर भी कांग्रेस के लोगों पर हमला बोला. सोनी ने कहा कि देश के करोड़ों लोग ताली, थाली और घण्टी बजाकर सेवाभावी लोगों का आभार मान रहे हैं, प्रधानमंत्री के आह्वान पर रविवार की रात दीपक प्रज्जवलित कर नकारात्मकता के अन्धकार को चीर कर सामूहिक शक्ति की सकारात्मक ऊर्जा से भरपूर होंगे जिसमें छत्तीसगढ़ की भागीदारी पूरी तरह होगी. कांग्रेस के नेता इसे लेकर भी ओछी मानसिकता का प्रदर्शन कर रहे हैं लेकिन इन तमाम विघ्नसंतोषी तत्वों को न तो अपने इरादों में कभी कामयाबी मिलेगी और न ही छत्तीसगढ़ की जनता इन्हें कभी माफ करेगी.

Related Articles

Back to top button
Close
Close
 
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।