खबर का असर: नहर परियोजना में गड़बड़ी करने वाले ईई हटाए गए, इन्हें बनाया गया नया प्रभारी

पुरुषोत्तम पात्र,गरियाबंद। भ्रष्टाचार के आरोप में घिरे गरियाबंद सिंचाई विभाग के ईई पी.के. आंनद को हटा दिया गया है. उनके जगह पर आशुतोष सारस्वत को नया प्रभारी ईई बनाया गया है. पूरा मामला 44 करोड़ की लागत बन रहे नहर लाईनिंग कार्य में गड़बड़ी का है.

दरअसल पैरी दाई नहर परियोजना के 44 करोड़ के कार्य में भारी गड़बड़ी हुआ है. इसके अलावा पार्टनरशिप के आरोप में घिरे गरियाबंद सिंचाई विभाग के ईई पी.के. आंनद को हटाकर प्रभारी ईई आशुतोष सारस्वत को नियुक्ति किया गया है. जल संसाधन मंत्रालय से अवर सचिव प्रेम सिंह घरेन्द्र ने आदेश जारी किया है.

लल्लूराम डॉट कॉम ने 24 जून को पैरी परियोजना में हुई गड़बड़ी का मामला उजागर किया था. इसी गड़बड़ी के बाद यह कार्रवाई की गई है. बता दें कि लोकसेवा आयोग में भी पी.के. आंनद के खिलाफ जांच लंबित पड़ा हुआ है.

बता दें कि इस कार्य को वर्ष 2009 में मंजूरी मिल गई थी. तब लागत 30 करोड़ रुपए थी. वर्ष 2011 तक लगभग 15 किमी का काम किया गया था. काम को लेकर की गई शिकायत पर जांच के बाद तत्कालीन ईई दिनेश भगोरिया समेत 2 एसडीओ और 2 सब इंजीनियर को निलंबित किया गया था. इसके बाद काम रोक दिया गया था. सरकार बदलते ही योजना में 48 प्रतिशत एवज राशि के साथ काम की लागत अब 44 करोड़ कर दी गई.

read more- Health Ministry Deploys an Expert Team to Kerala to Take Stock of Zika Virus

Related Articles

Back to top button
 
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।