MP में भारी बारिश ने मचाई तबाही, सोहागी पहाड़ में भूस्खलन, 20 से ज्यादा गांवों से टूटा संपर्क

आशुतोष तिवारी, रीवा। रीवा में बीते 3 दिनों से लगातार हो रही झमाझम बारिश के कारण नदी और नाले उफान पर हैं. वहीं जिले के सोहागी पहाड़ में भूस्खलन की स्थिति निर्मित हुई है. इसके बाद अब बारिश के चलते लोगों के घरों में भी पानी घुसने लगा है. आम जनता को अपने घर छोड़ने तक की नौबत आ गई है.

दरअसल बीते कई दिनों से प्रदेश से सहित कई जिलों में मूसलाधार बारिश हो रही है. वहीं तेज बारिश के चलते सोहागी पहाड़ में भूस्खलन हुआ है. सड़क पर कई पेड़ गिर गए हैं. इसके अलावा नदी और नाले उफान पर हैं. शहर में स्थित छोटी पुल का जलस्तर बढ़ गया है. आलम ये है कि अब पानी ग्रामीण क्षेत्रों में पहुंच रहा है. बेलन नदी में जल की मात्रा बढ़ने से डीह पुल की ऊपर से पानी बह रहा है. तराई क्षेत्र में 20 से अधिक गांवों का मुख्य मार्ग से संपर्क टूट गया है.

इसे भी पढ़ें ः फ्रेंडशिप डे पर कमलनाथ ने शिवराज को दी बधाई और जताई चिंता, कहा- पता नहीं कब तक आप कुर्सी सुरक्षित रख पाएंगे

बता दें कि जिले में नदियों का पानी छोटे-छोटे गांवों एवं शहरों तक पहुंच रहा है. जिससे तकरीबन 20 गांव का संपर्क भी मुख्य सड़क से टूट गया हैं. लोग अब अपने-अपने घरों से बेघर होने लगे हैं. वहीं दूसरी ओर नदी और नाले उफान पर होने के चलते उफनते पुल को पार करने के लिए लोगों को जान जोखिम में डालकर निकलना पड़ रहा है.

इसे भी पढ़ें ः भारी बारिश से ढहा कच्चा मकान, एक ही परिवार के 4 लोगों की हुई मौत

गौरतलब है कि जिले में 3 दिनों से लगातार झमाझम बारिश हो रही है. जिसके चलते सतना जिले में स्थित बकिया बराज के 12 गेट को खोल दिया गया है. जिसकी वजह से अब तराई क्षेत्रों में हालत बदतर हो गई है. जिससे बेलन और चितौली नदी उफान पर हैं. वहीं शहर की छोटी पुल का जलस्तर भी बढ़ गया है.

मूसलाधार बारिश से खतरे में कई जिले

प्रदेश में लगातार बारिश की वजह से सतना, रीवा और सिंगरौली के कई गांवाें में बाढ़ का पानी घुस गया है. वहीं रीवा के त्योंथर ब्लॉक के बाढ़ प्रभावित गांव को खाली कराया जा रहा है. यहां से 300 लोगों को राहत कैंप में भेज दिया गया है. पार्वती और सिंध के उफान पर होने से भिंड और श्योपुर के कई गांव बाढ़ में घिर गए हैं. सतना में रपटा पार करते दो लोग बह गए. इनमें से एक को बचा लिया गया. इसके अलावा सीधी और सिंगरौली जिले में गोपद नदी उफान पर है. जिससे एक कच्चा मकान गिरने से बुजुर्ग की मौत हो गई. सतना के बिरसिंहपुर से रीवा के सेमरिया जाने का मार्ग मऊ नदी उफान में होने से बंद कर दिया गया है.

रेड अलर्ट जारी

भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने शनिवार को प्रदेश के 22 जिलों के लिए क्रमश: अत्यधिक बारिश के लिए रेड और ऑरेंज अलर्ट जारी किया है. जबलपुर, रीवा, सतना, अनूपपुर, उमरिया, डिंडोरी, कटनी, नरसिंहपुर, मंडला, सागर, टीकमगढ़, विदिशा, सीहोर, राजगढ़, बैतूल, बुरहानपुर, खंडवा, खरगोन, धार, देवास, आगर-मालवा, अशोकनगर और शिवपुरी जिलों के अलग-अलग स्थानों पर भारी से भारी से बहुत भारी वर्षा हो सकती है.

इसे भी पढ़ें ः Exclusive: इंदौर शराब कांड मामले में बार संचालकों सहित 4 आरोपी गिरफ्तार, नकली शराब से हुई थी 5 की मौत

Related Articles

Back to top button
 
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।