“कबाड़ से जुगाड़” कार्यक्रम से ग्रामीण प्रतिभाओं की खोज, पर्यावरण संरक्षण के साथ वैज्ञानिक दृष्टिकोण पैदा करने की अभिनव पहल

रोहित कश्यप,मुंगेली- समग्र शिक्षा कार्यक्रम के तहत इन दिनों प्रदेश में कबाड़ से जुगाड़ नामक कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है. इसके तहत कबाड़ में तब्दील हो चुके वस्तुओं को एकत्र कर उपयोगी वस्तु बनाने पर जोर दिया जा रहा है. इस कार्यक्रम का मकसद ग्रामीण इलाकों में प्रतिभाओं की खोज करना,साथ ही स्थानीय छात्र-छात्राओं में पर्यावरण संरक्षण के साथ साथ वैज्ञानिक दृष्टिकोण का भाव पैदा करना है.

Close Button

इन्हीं उद्देश्योें को लेकर मुंगेली के बीआरसी भवन में समग्र शिक्षा जिला मुंगेली द्वारा जिला स्तरीय कबाड़ से जुगाड़ कार्यशाला का आयोजन किया गया. शून्य निवेश नवाचार अवधारणा के तहत विज्ञान , गणित एवं पर्यावरण विषय के अन्तर्गत मॉडल तैयार करने का आयोजन किया गया. उक्त आयोजन में मुंगेली जिले के तीनो विकास खण्ड मुंगेली , लोरमी एवं पथरिया से लगभग 98 शालाओं के शिक्षकों द्वारा भाग लिया गया. विषय विशेषज्ञों द्वारा सभी मॉडलों का अवलोकन करने के पश्चात अंतिम परिणाम निम्नानुसार दिया गया :-  रिखी राम राजपूत प्रथम पूर्व माध्यमिक शाला  खुटेरा पथरिया, द्वितिय माधवी यादव पूर्व माध्यमिक बरेला मुंगेली , तृतीय  ज्योति शर्मा पूर्व माध्यमिक शाला निरजाम मुंगेली के रुप में चयनित किया गया.

इसी तरह प्राथमिक शाला वर्ग से प्रथम जसरानी सिंह प्राथमिक शाला चालान मुंगेली ,द्वितीय रामायण राजपूत  लोरमी , तृतीय प्रीति श्रीवास बरदुली मुंगेली को चयनित किया गया. शेष सभी प्रतिभागियों को सम्मानित करते हुए स्मृति चिन्ह भेंट किया गया. जिला स्तरीय कार्यशाला में जसरानी सिंह और रिखी राम राजपूत का राज्य स्तरीय प्रतियोगिता के लिए चयन किया गया. कार्यक्रम में व्ही.पी.सिंग DMC, पी.सी.दिव्य APC , शर्मा जी APC मुंगेली , डी.सी.डाहिरे बीआरसीसी मुंगेली , निर्णायक व्याख्याता राजेंद्र क्षत्रीय, सृष्टि शर्मा, शंकर सिंह राजपूत, सीताराम बारेकर, पवन कुमार मिरे रहे.समस्त सीएसी विकास खण्ड मुंगेली इस कार्यशाला में उपस्थित थे.

Related Articles

Back to top button
Close
Close
 
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।