whatsapp

BEO को हटाने की मांग: 3 पिकअप में सवार होकर कलेक्ट्रेट पहुंचे स्टूडेंट्स, अपर कलेक्टर को सुनाई अपनी समस्याएं

रेणु अग्रवाल, धार। धार जिले के सरदारपुर स्थित 4 छात्रावासों के विद्यार्थियों ने खंड शिक्षा अधिकारी (Block Education Officer) को हटाने की मांग को लेकर प्रदर्शन किया। पिकअप में सवार होकर कलेक्ट्रेट पहुंचे छात्रों ने अपर कलेक्टर से मिलकर अपनी समस्याएं सुनाई।

दरअसल, शिष्यावृती, भोजन में कटौती, बिस्तर, खेल सामग्री ना मिलने पर बड़ी संख्या में छात्र कलेक्टर कार्यालय ज्ञापन देने पहुंचे थे। जनजाति कार्य विभाग के सहायक आयुक्त सुप्रिया बिसेन ने छात्रों की समस्याएं सुनी। लेकिन छात्र कलेक्टर के आने तक नहीं जाने के बाद पर अड़े रहे। मामला बढ़ता देख अपर कलेक्टर श्रंगार श्रीवास्तव मौके पर पहुंचे और छात्रों की समस्याओं को सुनकर उनकी शिकायत के निराकरण का आश्वासन दिया, जिसके बाद छात्र वापस लौटे।

भारत-न्यूजीलैंड के मैच में तैनात SDOP को आया हार्ट अटैक, इंदौर में लापरवाह एंबुलेंस स्टाफ मिले गायब, पुलिस ने अपनी गाड़ी से पहुंचाया अस्पताल, हालत नाजुक

छात्रों का कहना है कि कड़ाके की ठंड होने के बावजूद खेलने के लिए उन पर दबाव बनाया जाता है, जबकि उन्हें ट्रैक सूट भी नहीं दिए गए हैं, उन्हें मानसिक रूप से प्रताड़ित किया जा रहा है। बिस्तर भी नहीं दिए गए हैं और शिकायत करने पर बच्चों के भविष्य को खराब करने की धमकी दी जाती है।

इंदौर के बाद बीना रिफाइनरी में मिला नर कंकाल: डिस्पैच टर्मिनल में सफाई के दौरान मिले अवशेष, मोबाइल और गमछा

दो साल से नहीं मिली छात्रवृत्ति
छात्रों ने बताया कि 2 साल से उनकों शिष्यावृती भी नहीं मिली है। रिपेयरिंग, रंगाई-पुताई फंड का अधीक्षक द्वारा व्यक्तिगत उपयोग किया गया है। खंड शिक्षा अधिकारी के द्वारा राशि हड़प ली गई है। इस पर सहायक आयुक्त सुप्रिया बिसेन ने कहा कि जिला मुख्यालय की एक टीम जांच के लिए सरदारपुर पहुंचेगी। विद्यार्थियों को कमेटी के समक्ष अपनी बात रखने की समझाइश दी गई है। पूरे मामले की जांच के बाद नियमानुसार कार्रवाई होगी।

MP-MLA और पूर्व मंत्रियों का वेतन कम करके कर्मचारियों को बेहतर सैलरी दे सरकार: विधायक रामबाई बोलीं- पद में रहते हुए अच्छा कमा लेते हैं, इन्हें वेतन की जरूरत नहीं

Read more- Health Ministry Deploys an Expert Team to Kerala to Take Stock of Zika Virus

Related Articles

Back to top button