रिश्वत लेना पड़ा महंगा: जल संसाधन विभाग का क्लर्क 15 हजार की घूस लेते पकड़ाया, सुरक्षा निधि निकालने ठेकेदार से मांगे थे पैसे

कुमार इंदर, जबलपुर। मध्यप्रदेश में तमाम कोशिशों के बाद भी भ्रष्टाचार पर लगाम नहीं लग पा रहा है। जबलपुर में जल संसाधन विभाग के क्लर्क को EOW की टीम ने 15 हजार रुपए की घूस लेते हुए पकड़ा है। इससे पहले आज ही भोपाल में लोकायुक्त ने विद्युत यांत्रिकी विभाग के स्थापना प्रभारी को 40 हजार रुपए की घूस लेते हुए पकड़ा था।

MP: टीनएजर्स से अननेचुरल सेक्स, वारदात को अंजाम देने वाले 3 में से 2 नाबालिग, झाबुआ की महिला से गुजरात में रेप

दरअसल, जल संसाधन विभाग में पदस्थ क्लर्क संदीप मस्के ने ठेकेदार नरेंद्र सिंह परिहार से 12 लाख सिक्योरिटी डिपाॅजिट वापस देने के बदले 15 हजार की रिश्वत मांगी थी। ठेकेदार ने इसकी शिकायत जबलपुर EOW से कर दी। फरियादी की शिकायत पर टीम ने कार्यालय में छापा मारकर रिश्वतखोर क्लर्क को रंगे हाथ रिश्वत लेते गिरफ्तार कर लिया। इस कार्रवाई से अन्य अधिकारियों औऱ कर्मचारियों में हड़कंप मच गया। फिलहाल जबलपुर EOW ने आगे की कार्रवाई कर रही है।

समलैंगिक रिश्ते का खौफनाक अंतः नाबालिग का हाथ-पैर बंधे और मुंह पर टेप लगा शव मिला, दोस्त के सेक्सटॉर्शन से तंग आकर युवक ने हत्या कर लगा ली थी फांसी, सुसाइड नोट ने खोली चौंकाने वाली दास्तां

प्रदेश में लगातार ट्रैप हो रहे भ्रष्ट अधिकारी

मध्यप्रदेश में हर रोज सरकारी कर्मचारी रिश्वत लेते पकड़ा रहे हैं। आज ही भोपाल में लोकायुक्त ने विद्युत यांत्रिकी विभाग के एक अधिकारी को 40 हजार रुपए की घूस लेते हुए रंगे हाथ पकड़ा था। फिर भी भ्रष्टाचार से लिप्त कर्मी बाज नहीं आ रहे हैं। कहा जा रहा है कि कठोर कार्रवाई नहीं होने से ‘करप्ट’ कर्मचारी बेखौफ होकर रिश्वत मांगते हैं और नहीं देने पर काम करने में आनाकानी करते हैं।

फायर सेफ्टी को लेकर राजधानी को बड़ी सौगात: निगम के बेड़े में शामिल हुई 18 मंजिल तक रेस्क्यू करने वाली हाइड्रोलिक मशीन, जानिए क्या है इसकी खासियत

Read more- Health Ministry Deploys an Expert Team to Kerala to Take Stock of Zika Virus

Related Articles

Back to top button