नवरात्रि में मंदिरों में श्रद्धालुओं के प्रतिबंध पर जूदेव ने पत्र लिख जताई नाराजगी, कहा- छत्तीसगढ़ में मदिरा की दुकानें खुली हुई है और मंदिर बंद हैं.. दर्शन की अनुमति दें

रवि गोयल, जांजगीर-चांपा। चंद्रपुर के पूर्व विधायक एवं संसदीय सचिव रह चुके युद्धवीर सिंह जूदेव ने जांजगीर चांपा कलेक्टर यशवंत कुमार को एक बार फिर पत्र लिखा है। जूदेव ने नवरात्रि के दौरान मंदिरों में श्रद्धालुओं के प्रवेश पर प्रतिबंध को लेकर अपनी नाराजगी जाहिर की है।

जूदेव ने पत्र में लिखा है जी पूरे छत्तीसगढ़ में किसी भी जिले में मंदिरों में श्रद्धालुओं पर रोक नहीं लगाई है मगर जांजगीर चांपा जिले में नवरात्रि के दौरान श्रद्धालुओं को मंदिर में प्रवेश करने पर प्रतिबंध लगाया गया है।

पत्र में अपनी नाराजगी जाहिर करते हुए उन्होंने आगे लिखा कि, यह अत्यंत खेद का विषय है कि पूरे छत्तीसगढ़ में मदिरा की दुकानें खुली हुई है और जाँजगीर चांपा जिले का मंदिर बंद है। आदिशक्ति अंबे भवानी मां दुर्गा के प्रति हम हिंदुओं की असीम आस्था और विश्वास जुड़ा हुआ है। हमारी माताएं और बहनें 9 दिनों तक उपवास रखकर माता रानी के दर्शन हेतु लालायित रहती हैं और नवरात्रि के समय माता रानी का दर्शन ना कर पाना अत्यंत ही दुर्भाग्य और खेद का विषय है। हम हिंदुओं के प्रति आस्था से खिलवाड़ किया जाना मैं और मेरे हिंदू भाई कतई बर्दाश्त नहीं कर सकेंगे चाहे सरकार किसी की भी हो।

अंत में जूदेव ने कलेक्टर से अनुरोध किया है कि हिंदुओं के आस्था को ध्यान में रखते हुए 24 एवं 25 अक्टूबर अष्टमी नवमीं को श्रद्धालुओं को मंदिरों में प्रवेश करने की अनुमति प्रसारित करें।

loading...

Related Articles

loading...
Back to top button
error: Content is protected !!
 
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।