बारिश ने तबाह की महाराष्ट्र में प्याज की फसल, फिर खून के आंसू रुलाएगा प्याज, हो जाइए तैयार

दिल्ली। देश में मानसून जाते जाते कई इलाकों में कहर बरपा गया। इनमें महाराष्ट्र भी शामिल है। राज्य में मानसून के आखिरी दौर में हुई बारिश से फसलें तबाह हो गई हैं।

मानसून की आखिरी बारिश का असर प्याज की फसल पर भी पड़ा है। इसकी वजह से प्याज फिर लोगों को आंसू रूलाएगा। मुंबई में तो प्याज का भाव आसमान छूने लगा है। कारोबारियों का कहना है कि  दीपावली तक प्याज फिर लोगों को रुलाएगा। महाराष्ट्र का नासिक प्याज का सबसे बड़ा प्याज उत्पादक शहर है। यहां मंडी में प्याज की कमी देखी जा रही है। नई प्याज नहीं आने से पुरानी प्याज का भाव रोजाना बढ़ रहा है। नासिक जिले की प्याज मंडियों में प्याज की कीमत अब दस हजार रूपये क्विंटल के पार पहुंच गई है।

व्यापारियों का मानना है कि प्याज के दामों में बढ़ोतरी अक्तूबर के आखिर तक जारी रहेगी। प्याज व्यापारियों का कहना है कि होटल और रेस्टोरेंट शुरू होने से भी प्याज की मांग बढ़ गई है। दक्षिण के राज्यों में पुराने प्याज की मांग तेजी से बढ़ी है। इस साल बारिश होने के कारण नए प्याज की आवक में समय लगेगा।इसके चलते अब दिसंबर महीने में ही नई प्याज बाजार में आ सकेगी। तब तक पुराने प्याज के भाव में तेजी बरकरार रहेगी।

loading...

Related Articles

loading...
Back to top button
error: Content is protected !!
 
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।