बच्चू लाल की मौत के विरोध में पाण्डातराई बंद, प्रदेश कांग्रेस ने बनाई जांच कमेटी

रायपुर। कवर्धा मेें स्थित मुख्यमंत्री आवास के सामने आत्मदाह करने वाले बच्चू लाल की मौत के बाद पीसीसी ने 7 सदस्यीय जांच समिति का गठन किया है. जांच कमेटी पूर्व नेता प्रतिपक्ष रविन्द्र चौबे के संयोजकत्व में गठित की गई है. कमेटी में पूर्व मंत्री मोहम्मद अकबर, अनुसूचित जाति विभाग के प्रदेशाध्यक्ष डॉ शिव कुमार डहरिया, पाण्डातराई के लाल जी चंद्रवंशी, कवर्धा के जिला अध्यक्ष महेश चंद्रवंशी, वरिष्ठ नेता राधेलाल भास्कर और पंडरिया ब्लाक कांग्रेस के ठाकुर रामकुमार शामिल हैं.

कमेटी के सदस्य कवर्धा जाकर बच्चू लाल के परिजनों से मुलाकात करेंगे और उनके द्वारा उठाए गए आत्मघाती कदम के पीछे की वजह की जानकारी लेंगे. इस दौरान कमेटी के सदस्य मृतक के परिजनों के अलावा नगर पंचायत पाण्डातराई से संबंधित लोगों से मुलाकात करेंगे.

वहीं बच्चू लाल की मौत के विरोध में पण्डातराई में सोमवार को बंद रखा गया था.

आपको बता दें कि बच्चू लाल ने कवर्धा सीएम हाउस के सामने 8 नवंबर को आत्मदाह कर लिया था. आत्मदाह के पीछे बताया जा रहा है कि बच्चूलाल और उसकी पत्नी सुनीता नगर पंचायत में पिछले 9 महीने से स्वीपर के पद पर काम कर रहे थे.

दोनों का वेतन 7-7 हजार रुपए था. पीड़ित की पत्नी सुनीता के अनुसार कि दोनों को कुल 9 हजार रुपए हर महीने मिलते थे और वे 5 हजार रुपए नगर पंचायत अध्यक्ष को जमा कर देते थे. जब उन्होंने अपने पैसे मांगे, तो दोनों को 1 नवंबर को नौकरी से निकाल दिया गया. जिसकी वजह से बच्चूलाल काफी परेशान रहता था और 8 नवंबर को उसने आत्मदाह कर लिया.

विज्ञापन

धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।