VIDEO: भोपाल में NSUI के कार्यकर्ताओं पर पुलिस ने किया लाठीचार्ज, कई घायल और दर्जनों कार्यकर्ता हिरासत में, कमलनाथ बोले- यह सरकार का तानाशाही रवैया

शब्बीर अहमद,भोपाल। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में NSUI के कार्यकर्ताओं ने बढ़ती बेरोजगारी और बढ़ती फीस के विरोध में प्रदर्शन किया. मुख्यमंत्री निवास का घेराव करने निकले एनएसयूआई कार्यकर्ताओं की पुलिस के साथ झपड़ हो हई. एनएसयूआई की तरफ से पत्थर फेंकने के बाद पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा. जिस कारण कई कार्यकर्ता घायल हो गए हैं. तीन दर्जन से ज्यादा NSUI कार्यकर्ताओं को पुलिस ने हिरासत में लिया है.

दरअसल बड़ी संख्या में NSUI कार्यकर्ता बेरोजगारी, नई शिक्षा नीति, महंगाई, बढ़ते अपराध के विरोध में घेराव करने निकले थे. कांग्रेस दफ्तर से पैदल मार्च कार्यकर्ता CM हाउस की तरफ कूच करने लगे, तो पुलिस और एनएसयूआई कार्यकर्ताओं के बीच टकराव हो गई. एनएसयूआई की तरफ से पत्थर फेंकने के बाद पुलिस ने लाठीचार्ज किया.

पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने ट्वीट कर कहा कि आदिवासी छात्रों की रुकी स्कालरशीप जारी करने, रोज़गार देने की मांग को लेकर और शिक्षा बचाओ-देश बचाओ अभियान के तहत आज मध्यप्रदेश के छात्रों ने एनएसयूआई के बैनर तले मुख्यमंत्री आवास के घेराव का कार्यक्रम आयोजित किया था.

शांतिपूर्ण प्रदर्शन कर रहे हज़ारों छात्रों पर शिवराज सरकार के ईशारे पर पुलिस ने बर्बरता पूर्वक लाठीचार्ज किया. उन्हें गिरफ़्तार कर लिया गया. इस लाठीचार्ज में कई छात्र व NSUI के पदाधिकारी घायल हुए है. सरकार छात्रों को रोज़गार तो दे नहीं रही, उनकी मांग मान तो नहीं रही, लेकिन उन पर बर्बर तरीक़े से लाठियाँ ज़रूर बरसा रही है. यह सरकार का तानाशाही रवैया है. एनएसयूआई के कार्यकर्ता और छात्र ऐसे किसी दमन से झुकने वाले नहीं है. छात्र हित में उनका संघर्ष सतत जारी रहेगा.

Read more- Health Ministry Deploys an Expert Team to Kerala to Take Stock of Zika Virus

">

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!
 
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।