Contact Information

Four Corners Multimedia Private Limited Mossnet 40, Sector 1, Shankar Nagar, Raipur, Chhattisgarh - 492007

चंडीगढ़। पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने शुक्रवार को कहा कि वह दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल के खिलाफ मानहानि का मामला दर्ज कराएंगे, क्योंकि उन्होंने उनके भतीजे पर प्रवर्तन निदेशालय की छापेमारी के मद्देनजर उन्हें बेईमान आदमी बताया. चन्नी ने मीडिया से कहा, “वे मानहानि का मुकदमा दायर करेंगे.”

Punjab Election 2022: सीएम की दौड़ में टॉप पर चन्नी, राहुल गांधी के खास सहयोगी के सर्वे में पिछड़े सिद्धू !

 

चन्नी ने कहा कि केजरीवाल ‘नोटों के बंडल’ पर अपनी तस्वीरों का इस्तेमाल कर रहे हैं, यह कहते हुए कि पैसे ‘किसी और’ से बरामद किए गए थे. इस हफ्ते ईडी ने चन्नी के भतीजे समेत कई जगहों पर छापेमारी की थी. चन्नी ने कहा, “मैंने अपनी पार्टी से ऐसा करने की अनुमति देने का अनुरोध किया है. मैं ऐसा करने के लिए मजबूर हूं. वह मुझे बेईमान बता रहे हैं और उन्होंने इसे अपने ट्विटर हैंडल पर डाल दिया है.”

बता दें कि बीते दिनों केजरीवाल ने बीजेपी नेता नितिन गडकरी और दिवंगत अरुण जेटली और शिरोमणि अकाली दल के नेता बिक्रम सिंह मजीठिया से माफी मांगी थी. गुरुवार को केजरीवाल ने ट्विटर पर चन्नी को यह कहते हुए नारा दिया कि “वह एक आम आदमी नहीं है, वह एक बेईमान आदमी हैं”

मुख्यमंत्री के रिश्तेदार के घर ED के छापे पर गरमाई सियासत, CM चन्नी ने कहा- ‘मुझे PM की सुरक्षा में हुई चूक की सजा दी जा रही’

 

गौरतलब है कि प्रवर्तन निदेशालय (Enforcement Directorate) ने मंगलवार-बुधवार को पंजाब के अवैध बालू खनन मामले में छापा मारा था. ईडी ने सीएम चरणजीत सिंह चन्नी के भतीजे भूपिंदर सिंह हनी के ठिकानों पर भी छापेमारी की थी. ईडी (Enforcement Directorate) की टीम ने पठानकोट और अन्य इलाकों में छापेमारी की थी. एक सूत्र ने कहा था कि “हमने अब तक करीब 10 करोड़ रुपये की नकदी बरामद की है. टीम को कुछ दस्तावेज भी मिले हैं, जो भूपिंदर सिंह हनी को शेल कंपनियों से जोड़ते हैं.” ईडी के सूत्रों ने दावा किया कि भूपिंदर सिंह हनी का पंजाब में रेत माफिया से संबंध होने का आरोप है. ईडी ने बुधवार को छापेमारी के दौरान कुछ दस्तावेज बरामद किए थे. एक सूत्र ने बताया कि उनके द्वारा बरामद दस्तावेजों से इस बात की पुष्टि हुई है कि कुदरतदीप दो फर्म चला रहे थे और भूपिंदर उनमें संयुक्त निदेशक थे. फर्म मूल रूप से शेल कंपनियां हैं, लेकिन ईडी ने बहुत सारे पैसे के लेनदेन का पता लगाया है.

इधर इन छापों को लेकर सीएम चन्नी ने कहा था कि प्रधानमंत्री की सुरक्षा में हुई चूक की सजा उन्हें दी जा रही है.

 

">
Share: