यह कैसी राजधानी पुलिस, लोगों में भरोसा जगाने की बजाए स्वयं की सुरक्षा करने की दे रही सलाह…

रायपुर. राजधानी में अपराध का ग्राफ कुछ दिनों से काफी तेज गति से चढ़ा है. स्थिति से गंभीरता से निपटने की बजाए पुलिस उल्टे लोगों से ही अपनी सुरक्षा स्वयं करने की बात कह रही है. पुलिस की नाकामी को लेकर लोगों में रोष इतना है कि उन्होंने थाने का घेराव तक कर दिया.

हाउसिंग बोर्ड कालोनी सेजबहार में पिछले कुछ दिनों के अंदर चोरी की कई बड़ी घटनाएं हुई हैं. पुलिस चोरों को पकड़ने में नाकाम रही. गुरुवार को स्थानीय लोगो ने एक चोर को रंगे हाथ पकड़ मुजगहन थाना पुलिस के हवाले कर दिया. लेकिन बैठे-बिठाई चोर के हाथ लगने के बाद भी पुलिस उसे नहीं संभाल पाई. पुलिस की लापरवाही से चोर 112 वाहन से कूद कर फरार हो गया और पुलिस देखती रह गई.

पुलिस की लापरवाही से आक्रोशित लोगों ने थाने का घेराव कर चोरों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की. मुजगहन थाने के थानेदार लोगों को सुरक्षा का आश्वासन देने की बजाए उल्टे उन्हें अपने घर और समान की सुरक्षा खुद करने की सलाह दे डाली. अब सवाल यह है कि लोगों की सुरक्षा करने वाली पुलिस चौरी और लूट की घटनाओ के बाद लोगों से ऐसा कहे कि वे अपनी सुरक्षा खुद कर लें तो पुलिस अपनी विश्वसनीयता कैसे बरक़रार रख पायेगी, और लोग इस तरह की घटनाओं के बाद पुलिस कार्रवाई पर कैसे भरोसा कर पाएंगे.

गौरतलब है कि पिछले कुछ दिनों से करीब दर्जनभर चोरी की घटनाएं सामने आई हैं. हाउसिंग बोर्ड कालोनी, सेजबहार में तो एक ही रात में तीन घरों के ताले टूटे थे, जिसमें एक घर में जहां चोर 6 लाख रुपए के नगद और गहने ले उड़े, वहीं दूसरे घरों में भी 2 लाख रुपए का सामान पार हो गया था. चोर यहीं पर नहीं रुके इसके बाद अन्य कई घरों में भी चोरी के प्रयास हुए. लेकिन चिंता का विषय यह है कि तमाम कोशिशो के बावजूद पुलिस इस तरह के अपराध पर लगाम क्यों नहीं लगा पा रही है.

विज्ञापन

Close Button
Close Button
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।