बड़ी खबर : सुरक्षा बल के हमले में 13 ग्रामीणों की मौत, सीएम ने जांच के लिए बनाई एसआईटी

इंफाल। पूर्वोत्तर राज्य नागालैंड में शनिवार शाम को सुरक्षाबलों की फायरिंग में 13 नागरिक मारे गए हैं. घटना के बाद गुस्साए स्थानीय लोगों ने सुरक्षा बल के वाहनों को आग के हवाले कर दिया. नागालैंड के मुख्यमंत्री ने नेफियो रियो ने मामले की जांच के लिए SIT का गठन कर दिया है. वहीं केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने घटना में दिवगंतों के परिजनों के प्रति शोक जताया है.

रिपोर्ट के अनुसार, भारत म्यांमार सीमा पर स्थित नागालैंड के मोन जिले के ओटिंग के तिरु गांव की है. सुरक्षा बलों को विद्रोहियों के होने की खबर मिली थी. कार्रवाई के लिए पहुंचे सुरक्षा बलों ने गलतफहमी की वजह से मिनी ट्रक से वापस लौट रहे ग्रामीणों को निशाना बना डाला. जब काफी देर बाद ग्रामीण घर नहीं पहुंचे तो गांव के वॉलंटियर्स इन्हें खोजने के लिए निकले. तभी इन्हें इनकी डेड बॉडीज मिली. इस घटना के बाद इलाके में तनाव फैल गया, और गुस्साए ग्रामीणों ने सुरक्षा बल की गाड़ियों में आग लगा दी.

घटना की जानकारी मिलने पर नागालैंड के मुख्यमंत्री नेफियो रियो ने लोगों से शांति की अपील की है. इस मामले की जांच के लिए उन्होंने SIT का गठन कर दिया है. सीएम ने ट्वीट कर कहा कि मोन के ओटिंग में में नागरिकों की हत्या की दुर्भाग्यपूर्ण घटना और अत्यंत निंदनीय है. मैं शोक संतप्त परिवारों के प्रति संवेदना व्यक्त करता हूं और घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करता है. इस घटना की जांच उच्च स्तरीय एसआईटी करेगी और देश के कानून के अनुसार न्याय दिलाएगी, मैं सभी वर्गों से शांति की अपील करता हूं.

इसे भी पढ़ें : CG NEWS : अतिक्रमण कर धड़ल्ले से मकान बना रहे भाजपा नेता कार्रवाई पर बिफरे, अधिकारी को दे दी धमकी…

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने भी इस घटना पर दुख व्यक्त किया है. अमित शाह ने ट्वीट कर कहा है कि नागालैंड के ओटिंग की दुर्भाग्यपूर्ण घटना से काफी व्यथित हूं. जिन लोगों ने अपनी जान गंवाई है, उनके परिवारों के प्रति मैं अपनी गहरी संवेदना व्यक्त करता हूं. राज्य सरकार द्वारा गठित एक उच्च स्तरीय एसआईटी इस घटना की गहन जांच करेगी ताकि शोक संतप्त परिवारों को न्याय सुनिश्चित किया जा सके.

Read more : Is Crypto Looming? Panic Rises after Govt Lists Bill with Few Exceptions 

">

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!