whatsapp

शतभिषा नक्षत्र में पहुंचे शनिदेव, तीन राशियों के लिए सबसे ज्यादा लकी, अपनी स्वराशि में विराजमान हैं शनि …

वैदिक ज्योतिष के अनुसार ग्रह एक निश्चित अंतराल पर गोचर और नक्षत्र परिवर्तन करते रहते हैं. जिसका असर मानव जीवन और पृथ्वी पर देखने को मिलता है. बता दें कि आयु प्रदाता और न्याय प्रदाता शनि देव नक्षत्र परिवर्तन करने जा रहे हैं. शनिदेव 15 मार्च को राहु के नक्षत्र शतभिषा नक्षत्र में प्रवेश किया है. ज्योतिष अनुसार शनिदेव और राहु ग्रह में मित्रता का भाव विद्यमान हैं. इसलिए शनि देव का नक्षत्र परिवर्तन का असर सभी राशियों के लोगों पर पड़ेगा. लेकिन 3 राशियां ऐसी हैं, जिनको इस दौरान धनलाभ और उन्नति के योग बन रहे हैं.

शनिदेव का शतभिषा में भ्रमण सबसे शुभफलकारी होता है

सभी 27 नक्षत्रों में शनि का शतभिषा नक्षत्र पर आधिपत्य है. शतभिषा नक्षत्र को सभी 27 नक्षत्रों में 24 स्थान प्राप्त है. इस नक्षत्र की राशि कुंभ और कुंभ राशि के स्वामी शनिदेव हैं. वैदिक ज्योतिष शास्त्र के अनुसार जब शनिदेव शतभिषा नक्षत्र में भ्रमण पर होते हैं, सबसे शुभ फल प्रदान करते हैं. इस नक्षत्र में शनि का प्रभाव शुभ और सकारात्मक होता है. Read More – Sameer Khakhar का निधन, 70 साल की उम्र में हुई मौत …

17 अक्टूबर 2023 तक इसी में विराजमान रहेंगे

शनिदेव सभी ग्रहों में सबसे मंद गति से चलने वाले ग्रह हैं यह किसी एक राशि में करीब ढाई वर्षों तक रहते हैं. शनि अपनी स्वराशि कुंभ में विराजमान हैं और शतभिषा में नक्षत्र में प्रवेश करने से इनकी शक्ति काफी बढ़ जाएगी. कौन-कौन सी राशियां है जिन पर शुभ असर देखने को मिलेगा. शनिदेव ने 15 मार्च 2023 को सुबह 11 बजकर 40 मिनट पर शतभिषा नक्षत्र के पहले पद में प्रवेश कर लिया है. जहां पर ये 17 अक्तूबर 2023 तक इसी में विराजमान रहेंगे.

मेष राशि

आप लोगों के लिए शनि देव का शतभिषा नक्षत्र में गोचर लाभप्रद सिद्ध हो सकता है. क्योंकि शनिदेव लाभ और कर्म के स्थान पर विराजमान होंगे. इसलिए इस समय आपकी आय में जबरदस्त बढ़ोतरी हो सकती है. साथ ही काम- कारोबार में भी सफलता के योग बन रहे हैं. व्यापारियों को इस समय अ’छा धनलाभ हो सकता है. मान- सम्मान की प्राप्ति हो सकती है. Read More – मैनेजर को याद आए Satish Kaushik के आखिरी लफ्ज, एक्टर ने कहा था ”मैं मरना नहीं चाहता, मुझे बचा लो” …

मिथुन राशि

शनि देव का शतभिषा नक्षत्र में आप लोगों को करियर और कारोबार की दृष्टि से शुभ साबित हो सकती है. क्योंकि शनिदेव अष्टमेश और नवमेश के भाव में विराजमान होंगे. साथ ही यह अपनी मूल त्रिकोण राशि के नौवें भाव में गोचर करेंगे. इसलिए इस समय आपको किस्मत का साथ मिल सकता है. साथ ही विदेश यात्रा के भी योग बन रहे हैं.

मकर राशि

शनिदेव का शतभिषा नक्षत्र परिवर्तन मकर राशि के जातकों को शुभ साबित हो सकता है. इस अवधि में नौकरपेशा लोगों को नई नौकरी का प्रस्ताव आ सकता है. साथ ही प्रमोशन के भी योग बन रहे हैं. विद्यार्थियों के लिए भी यह अवधि काफी अ’छी रहेगी.

Related Articles

Back to top button