Contact Information

Four Corners Multimedia Private Limited Mossnet 40, Sector 1, Shankar Nagar, Raipur, Chhattisgarh - 492007

रायपुर. कई बार लोगों की शिकायत रहती है कि मेरे साथ हर जगह अन्याय होता है और मैं अच्छा करता हूँ उसके बाद भी मुझे लोग बुरा कहते हैं. कई लोग बिना कुछ किए भी अच्छा बन जाते हैं तो वहीं कई लोग अच्छा करने के बाद भी उसक प्रतिफल नहीं पा पाते. शास्त्रों के अनुसार शनि देव को न्याय का देवता कहा जाता है. शनि को दंडाधिकारी का पद प्राप्त है. व्यक्ति के द्वारा किए जाने वाले कार्य और उसके फल के पीछे शनि ही हैं. व्यक्ति की आजीविका, रोग और संघर्ष शनि के द्वारा ही निर्धारित होते हैं.

शनि को प्रसन्न करके व्यक्ति जीवन के कष्टों को कम कर सकता है. साथ ही करियर और धन के मामले में सफलता पा सकता है. शनि देव की पूजा अगर समझकर और सावधानी के साथ की जाए तो तुरंत फलदायी होती है. शनिवार के दिन किसी को शनि-राहु का दोष हो तो उस को शनिदेव की पूजा से बहुत जल्दी यह दोष समाप्त हो जाता है. इस दिन परिवार के साथ पीपल के पेड के पास जाइए, उस ही पीपल देवता को एक जनेऊ दीजिए साथ ही दुसरा जनेऊ भगवान विष्णु जी के नाम से उसी पीपल के पेड को दीजिये, पीपल के पेड और भगवान विष्णु को नमस्कार कर प्रार्थना कीजिए.

शनि मंत्र का जाप करियें तथा जाने अनजाने में हुये अपराधो के लिए उनसे क्षमा मांगिए और अपने पितरो के कल्याण के लिए प्रार्थना करें. जीवन में शुचिता धारण करिएं और किसी को दुख ना पहुंचे ऐसे कर्म करिए तो राहु से पापाक्रांत शनि के दोषो को दूर कर आपके जीवन में सभी प्रकार से न्याय होगा और सुख समृद्धि की भी प्राप्ति होगी.

शनि से न्याय प्राप्ति के अन्य उपाय

सरसों का तेल : शनि देव की पूजा में सरसों के तेल का विशेष महत्व बताया गया है. शनिवार के दिन सरसों के तेल का दान शुभ माना जाता है. कुंडली में शनि देव की दशा होने पर सरसों का तेल दान करने से लाभ होता है. मान्यता है कि इस दिन बड़े-बुजुर्गों का सम्मान करें. कहते हैं कि शनिवार के दिन तेल नहीं खरीदना चाहिए. इसके साथ ही, शनि दशा होने पर लोहे के बर्तन में सरसों का तेल और उसमें एक का सिक्का डालकर दान करने से विशेष लाभ होता है.

पीपल के पास दीप दान : धार्मिक ग्रंथों के अनुसार शनिवार के दिन सुबह के समय पीपल के पेड़ के पास पूजा के बाद सरसों के तेल का दीप जलाएं. इससे शनि देव की कृपा प्राप्त होती है.

हनुमान जी का पूजन : ग्रंथों में उल्लेख है कि बजरंग बली की उपासना करने से शनि देव क्षति नहीं पहुंचाते. इसलिए कहा जाता है कि हनुमान जी की अराधना शनि ग्रह के प्रकोप से बचा जा सकता है.

काली उड़द और काले तिल का दान : मान्यता है कि शनि ग्रह के अशुभ प्रभाव से बचने के लिए कई तरह की चीजों का दान करने की सलाह दी जाती है. इस दिन इन प्रभावों से मुक्ति पाने के लिए काला तिल और काली उड़द की दाल (काली) का दान करने के सलाह देते हैं. ऐसी मान्यता है कि इससे धन या कार्य संबंधित परेशानी से राहत मिलती है.