पुलिस की 8 टीमों ने 10 घंटे में सुलझाया रायगढ़ कैश वेन लूट का मामला, जानिए कैसे पहुंचे अंतर्राज्यीय गैंगस्टर तक…

रायगढ़। जिला मुख्यालय में 14.50 लाख लूट कर फरार हुए दो अंतरराज्यीय गैंगस्टर को 10 घंटे के भीतर पुलिस ने धरदबोचा. पुलिस को मिली इस सफलता के पीछे आठ टीमों की मशक्कत के अलावा समय रहते सघन नाकाबंदी के साथ डोरडूडोर पतासाजी थी, जिसकी वजह से गैंगस्टर जिले से भाग नहीं पाए और लूट की रकम व हथियारों के साथ धरे गए.

Close Button

जानकारी के अनुसार, सुबह करीब 11.30 बजे केवडाबाडी स्टेट बैंक के मुख्य शाखा से पैसे लेकर निकले कर्मचारी नवरतन रात्रे, गनमैन विनोद पटेल, चालक अरविन्द पटेल एवं भीषण कुमार रात्रे के साथ कैश वेन क्रमांक CG 04 JD 0613 में ATM में रकम डालते हुए किरोड़ीमल SBI ATM 1.45 बजे पहुंचे. नवरत्न रात्रे पेटी से 13,00,000 रुपए निकालकर ATM में पैसा डालने के लिए हुड को खोला ही था कि दो नकाबपोश शटर को उठाकर गोली चलाकर बैग मे भरा 13,00,000 रुपए और ATM से बची रकम 1,50,000 रुपए, कुल मिलाकर  14,50,000 रुपए लूटकर वैन के चालक अरविन्द पटेल और गनमैन विनोद पटेल को गोली मारकर मोटर साइकिल से भाग गए. घटना में चालक अरविंद पटेल की मौत हो गई, वहीं गनमैन गंभीर रूप से घायल हो गया.

लूट की यह वारदात आग की तरह फैली. मौके मौके पर जिले के सभी वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों के साथय़ शहर के सभी थाना/चौकी प्रभारी के साथ सायबर टीम पहुंच गई. घटना के तत्काल बाद बिलासपुर रेंज आईजी दिपांशु काबरा और एसपी रायगढ़ संतोष कुमार सिंह ने पूरे जिले को सील कराकर जिले के अंदर 50 नाकेबंदी पाइंट बनाकर रातभर वाहनों एवं आनेजाने वालों की सघन तलाशी अभियान चलाया. यही नहीं सरहदी जिले व सरहदी राज्य में नाकेबंदी कराकर अंतर्राज्यीय जिलों के पुलिस अधीक्षकों से तालमेल बिठाया गया. आरोपियों तक पहुंचने के लिए आठ टीमों को अलगअलग कामों में लगाया गया.

पुलिस कन्ट्रोल रूम, जिंदल कम्पनी और शहर की सैकड़ों CCTV कैमरों के फुटेज को चेक करने के बाद आरोपियों का अंतिम लोकेशन केराझर गांव के पास मिला. इसी बीच मुखबिर से सूचना मिली की केराझर में दो संदिग्ध देखे गए हैं, तब केराझर एवं पास के दो गांवों को पुलिस की टीमें टारगेट कर आर्म्स लिए हुए 50 जवान की टीम गांव को कार्डन किए, कुछ जवान CSP अविनाश सिंह ठाकुर के साथ हथियार लैस होकर एकएक कर घरों की तलाशी लेना शुरू किया. पुलिसपार्टी को एक कमरे अंदर दो संदिग्ध मिले, जिसमें एक युवक ने पुलिस पार्टी पर पिस्टल तान दी, लेकिन जान जोखिम में डाल पुलिसवालों ने झूमाझटकी कर हथियार पकड़े युवक को पटककर उससे हथियार छीनकर दोनों को हिरासत में ले लिया.

दोनों आरोपी बिहार के रहने वाले

कैश वेन लूट की वारदात में शामिल दोनों आरोपी बिहार के रहने वाले हैं. पहला आरोपी 23 वर्षीय सुधीर कुमार सिंह पिता झूलन राय बिहार के जिला सिवान के ग्राम खम्हौरी का रहने वाला तो दूसरा आरोपी 18 वर्षीय पिन्टु वर्मा उर्फ विराट सिंह उर्फ छोटू बिहार के जिला कैमूर के थाना रामगढ़ का रहने वाला है. पूछताछ में सुधीर सिंह ने बताया कि उसके पिता एवं भाई रायगढ़ में ही रहते हैं. सुधीर जब भी रायगढ़ आता तो कैश वैन को देख कर उसे लूटने का मन बनाकर अपने साथी पिन्टु वर्मा को प्लान में शामिल किया. लूट की प्लान के साथ 2 पिस्टल, 2 देसी कट्टा, 3 मैगजीन में 26 राउंड, 2 जिंदा कारतूस, 2 बटन चाकू के साथ प्रीप्लानिंग कर कैश वैन को लूटने आए, और 15 दिनों की रैकी करने के बाद लूट की घटना को अंजाम दिया.

बिहार में भी अपराध करने की सूचना

लूट की घटना के बाद रात में दोनों आरोपियों ने लूट की रकम 14,50,000 रुपए को आधाआधा बांट लिया था. पुलिस ने लूट की रकम हथियारों को भी बरामद किया. आरोपी सुधीर पूर्व में अपने अन्य साथियों के साथ रायगढ़ढिमरापुर मार्ग पर स्थित यूनियन बैंक को लूटपाट करने की नाकाम कोशिश करना स्वीकार किया है. अब जिला पुलिस आरोपियों के पूर्व क्राइम हिस्ट्री खंगालने में जुटी है. वहीं बिहार पुलिस से आरोपियों के सिवान और कैमूर में अपराध दर्ज होने की जानकारी मिली है. दोनों आरोपियों को इस मामले में गिरफ्तार कर रिमांड पर भेजा जा रहा है.

Related Articles

Back to top button
Close
Close
 
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।