छत्तीसगढ़ में नहीं थम रहा हाथियों की मौत का सिलसिला, एक नन्हे हाथी का मिला शव

गरियाबंद। छत्तीसगढ़ में हाथियों के मौत का सिलसिला थमने का नाम ही नहीं ले रहा है। अब गरियाबंद में हाथियों के झुंड से बिछड़े एक शावक की मौत हो गई है।

मामला सीतानदी टाइगर रिजर्व.के उसी कूल्हाड़ीघाट रेंज का है जहां 28 सितम्बर को एक हाथी की मौत करेंट लगने से हो गई थी। वहीं आज एक नन्हे हाथी का शव मिला है।

घटना की सूचना मिलते ही वाइल्ड लाइफ के आला अफसर मौके पर पहुंचे। वन्य प्राणी चिकत्सकों के दल में से डॉक्टर सोमेश जोशी ने बताया कि पूर्व में उस इलाके में बाघ के जो पग मार्क ट्रेस किये गए थे उससे हूबहू यह मिल रहा है। उस आधार पर कहा जा सकता है कि यह बाघ है ,पुष्टि करने वहां से सेम्पल एकत्र किए गए हैं। जिसे जांच के लिए लेब भेजा जाएगा ।

रेंज अफसर सुदर्शन नेताम ने बताया कि कुछ महीनों से ओडिसा से आये हाथियों का झुंड इसी इलाके में विचरण कर रहा है। उन्हीं दल में से एक शावक हाथी की मौत की सूचना कूकरार जंगल के पास होने की सूचना मिली है। बाघ प्रजाति के जानवर ने हमला किया है, जिसके निशान शावक के पिछले हिस्से पर नजर आ रहा है। पास में पद चिन्ह भी मौजूद थे। घटना की जानकारी आला अफसरों को दी गई थी। अफसरों की मौजूदगी में पीएम कराया गया है ।

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!
 
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।