रेल रोको आंदोलन : पुलिस ने रोका तो किसानों ने किया जोरदार प्रदर्शन, मंत्री अजय मिश्र के इस्तीफे की मांग

बाराबंकी. केंद्र सरकार के तीन नए कृषि कानून के खिलाफ देशभर के किसानों ने पिछले दस महीने से मोर्चा खोल दिया है. लखीमपुर खीरी हिंसा में जान गवाने वाले किसानों को न्याय की मांग को लेकर सोमवार को कई जगहों पर किसानों ने रेल रोकी. बाराबंकी के तहसील फतेहपुर में भी किसान रेल रोकने जा रहे हैं. प्रदर्शन करते हुए रेलवे ट्रेक की तरफ बढ़ रहे किसानों को पुलिस ने रोक लिया. इसके विरोध में किसानों ने फतेहपुर में जोरदार प्रदर्शन किया.

ट्रेन रोकने जा रहे किसानों को पुलिस ने तहसील फतेहपुर बाबाकुटी रोड के नंबर एक भट्ठे पर रोक लिया. किसानों ने बिना ज्ञापन दिए ही पुलिस के माध्यम से सरकार के समक्ष अपनी बात रखी. किसानों ने कहा लखीमपुर घटना में मंत्री को इस्तीफा देना चाहिए. लखीमपुर घटना और कृषि कानून को लेकर किसानों ने जमकर विरोध प्रदर्शन किया. किसानों ने तीनों कृषि कानूनों को रद्द करने की मांग की है.

इसे भी पढ़ें – लखीमपुर हिंसा के विरोध में गाजियाबाद के मोदीनगर रेलवे स्टेशन पर किसानों ने रोकी मालगाड़ी

बता दें कि 3 अक्टूबर को लखीमपुर खीरी में प्रदर्शन कर रहे किसानों को केंद्रीय राज्य गृह मंत्री अजय मिश्र की गाड़ी ने रौंद दी थी. इस घटना में चार किसान समेत आठ लोगों की मौत हो गई थी. किसानों के ऊपर गाड़ी चढ़ाने का आरोप मंत्री अजय मिश्र के बेटे आशीष मिश्र पर लगया गया है.

Read more – Rail Roko Protest Seeks Ministers Resignation Over Lakhimpur Kheri Incident

">

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!
 
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।