पत्नी के साथ घर में सो रहा था सरकारी अधिकारी, बदमाशों ने धारदार हथियार से दोनों को उतारा मौत के घाट

आजमगढ़. तरवा थाना क्षेत्र के तिथौपुर गांव में निमार्णाधीन मकान में एक सरकारी अधिकारी और उसकी पत्नी की बेरहमी से हत्या कर दी गई. आजमगढ़ के एसपी अनुराग आर्य ने कहा कि दंपति को मारने के लिए एक धारदार हथियार का इस्तेमाल किया गया है. वे दोनों गांव के बाहरी इलाके में अपने निर्माणाधीन घर के अंदर सो रहे थे. यह लूट की वारदात की तरह नहीं लगता है.

शवों को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया गया है. खबरों के मुताबिक, 55 वर्षीय राम नगीना का तिथौपुर गांव में पैतृक घर था और वह गांव के बाहरी इलाके में एक नया भवन बना रहे थे. वह लोखपाल के पद पर तैनात थे और ड्यूटी के लिए मऊ जाते थे. नए घर के निर्माण की शुरूआत के साथ ही वह और उनकी पत्नी नगीना देवी रात को खाना खाने के बाद वहां सोने चले जाते थे. रविवार की रात दोनों अपनी दिनचर्या के अनुसार निर्माणाधीन भवन में पहुंचे थे. जब वे अगली सुबह तक घर नहीं लौटे, तो उनके परिवार के सदस्य निमार्णाधीन इमारत में पहुंचे, जहां उनका शव खून से लथपथ पड़ा मिला.

हत्या की खबर जंगल में आग की तरह फैल गई और सैकड़ों ग्रामीण वहां जमा हो गए. पुलिस के आला अधिकारी भी मौके पर पहुंचे. एसपी ने कहा कि जांच के लिए पुलिस टीमों का गठन किया गया है और कहा कि मामले को जल्द से जल्द सुलझा लिया जाएगा. पुलिस स्थानीय लोगों और परिवार के सदस्यों से भी पूछताछ कर रही है कि अपराध के पीछे का मकसद क्या है. इस संबंध में अज्ञात बदमाशों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है.

">

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!