यूपी टीईटी पेपर लीक : मंत्री और अधिकारियों की मिली भगत से हुआ यह काम – चंद्रशेखर

उन्नाव. भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर आजाद रावण ने यूपी टीईटी पेपर लीक मामले में बड़ा बयान दिया है. एक निजी कार्यक्रम में उन्नाव पहुंचे चंद्रशेखर रावण ने लोगों को संबोधित करते हुए टीईटी पेपर लीक मामले में बड़े सवाल खड़े किए. चंद्र शेखर रावण ने कहा कि पेपर सुबह 10:30 बजे लीक नही हुआ, पेपर तो एक दिन पहले शाम में ही लीक हो गया था. बस पुलिस प्रशासन के लोगों ने छुपा रखा था. चंद्रशेखर रावण ने कहा कि अगर रात को चर्चा हो जाती कि पेपर लीक हुआ है तो पता चल जाता कि यहां के मंत्री और अधिकारियों की मिली भगत से टेट का पेपर लीक हुआ है.

चंद्रशेखर ने कहा कि यहां जो सेंटर के मालिक हैं, जहां सेंटर लगे हुए हैं वहां सरकारी तंत्र के लोग जुड़े हुए हैं, उन्होंने ही पेपर लीक करवाया है. चंद्रशेखर रावण ने सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि क्योंकि वो अपने चहेते लोगों को नौकरी दिलवाना चाहते हैं. यही नहीं एक मोटी रकम भी उसके एवज में लेना चाहते हैं. चंद्र शेखर रावण ने कहा कि मेरे पास इसके रिकॉर्ड हैं, मैं एक लॉयर और जिम्मेदार व्यक्ति हूं, कोई बात ऐसे हवा में नही कहता हूं. परीक्षा देने वाले अभ्यर्थियों को लेकर रावण ने कहा कि तमाम लोगों का 200 किलोमीटर दूर सेंटर लगा होगा, तो सोंचो कितने दिन पहले तैयारी शुरू की होगी.

रावण ने कहा कि मेरे परिवार से 10 लोग ऐसे हैं जो शिक्षा पर काम कर रहे हैं, पढ़ रहे हैं, नौकरी की तलाश में हैं. ऐसे लोग जो काम कर रहे थे, उन्होंने दो महीने पहले अपना काम छोड़ दिया होगा. फिर दो महिने तैयारी की और पेपर लीक हो गया. चंद्रशेखर रावण ने कहा कि उत्तर प्रदेश अब बहुजन समाज के रहने लायक बचा नहीं है. क्योंकि सत्ता में बैठे लोग और उनकी सत्ता द्वारा चलाए गुंडे जो किसी तरह से हमारे लोग आगे बढ़ रहे हैं, उनके हक अधिकार को छीनते थे, लेकिन आज वो उनकी जान भी छीनने लगे हैं.

">

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!