VIRAL VIDEO : सराफा दुकान में छापा मारने पहुंची DRI टीम के साथ धक्का-मुक्की, पुलिस के साथ भी झूमा-झटकी…

यशवंत साहू, भिलाई। सहेली ज्वेलर्स में छापा मारने पहुंची DRI (डायरेक्टोरेट ऑफ रेवेन्यू इंटेलिजेंस) टीम पर कर्मचारियों से मारपीट का आरोप लगाते हुए दुकान संचालकों ने धक्का-मुक्की की. टीम को बंधक बनाने का भी प्रयास किया गया. सूचना मिलने पर मौके पर पहुंची दुर्ग पुलिस के साथ भी झूमा-झटकी की गई. इस पूरी घटना का वीडियो वायरल हो रहा है.

दरअसल, DRI की 60 सदस्यीय टीम ने गुरुवार सुबह सहेली ज्वेलर्स के 5 ठिकानों पर छापा मारा था. इनमें दुर्ग और भिलाई में दुकान, मकान और कारखाने में एक साथ कार्रवाई शुरू की गई. टीम के सदस्यों ने सहेली ज्वेलर्स के संचालक सुनील जैन और राजेंद्र जैन के परिवार को नजरबंद कर दिया, उनसे उनके मोबाइल फोन ले लिए गए और घर के अंदर से किसी को भी बाहर नहीं जाने दिया गया. इसके साथ टीम के सभी सदस्यों ने वहां दस्तावेज खंगाले और कई अहम दस्तावेज जब्त किए.

सूत्र बताते हैं कि इस दौरान टीम ने यहां से बड़ी मात्रा में सोना और चांदी सहित उनसे बने आभूषण बरामद किए. जब अधिकारियों ने इनके दस्तावेज मांगे तो ज्वेलर्स संचालक प्रस्तुत नहीं कर पाए. इसके बाद टीम ने वहां से 5 बैग में हार्ड डिस्क, सीसीटीवी फुटेज सहित अन्य दस्तावेज और सोना चांदी जब्त कर लिया. देर रात करीब 1 बजे जब टीम जाने लगी तो ज्वेलर्स संचालकों ने उन्हें घेर लिया और बाहर नहीं जाने दिया. इस दौरान उनके बीच काफी बहस और झूमाझटकी भी हुई. मामला बढ़ते देख अधिकारियों ने दुर्ग पुलिस की मदद ली और किसी तरह वहां से निकले.

DRI की टीम के साथ देर रात मारपीट और धक्कामुक्की की भी खबर मिलने पर दुर्ग सीएसपी जितेंद्र यादव और कोतवाली टीआई पुलिस बल लेकर मौके पर पहुंचे. उस दौरान वहां पर काफी हंगामा हो रहा था. ज्वेलर्स संचालक ने आरोप लगाया कि बिल देने के बाद भी अधिकारियों ने उनके कर्मचारी के साथ गाली-गलौज और मारपीट की है. एसएसपी बीएन मीणा का कहना है कि मारपीट की कोई शिकायत नहीं मिली है, धक्का-मुक्की की खबर मिली थी. जब डीआरआई के अधिकारी कोई शिकायत दर्ज कराएंगे तो पुलिस उस पर कार्रवाई करेगी.

देखिए वीडियो :

">

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!