योगी का सबसे विवादित बयान, धर्मनिरपेक्षता को बताया आज़ादी के बाद का सबसे बड़ा झूठ, देखें वीडियो

रायपुर. शहर के एक निजी अखबार के कार्यक्रम में यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि आज़ादी के बाद सबसे बड़ा झूठ धर्मनिरपेक्षता है. उन्होंने कहा कि धर्मनिरपेक्षता ने भारत की अपूर्णीय क्षति की है. योगी ने कहा कि इसके लिए भारत की जनता से उन लोगों को माफी मांगनी चाहिए जिन्होंने इस शब्द को जन्म दिया या बार-बार इसका इस्तेमाल करते हैं.

योगी के इस बयान के बाद वहां तालियां बजने लगी. योगी ने कहा कि धर्म कर्तव्य, नैतिक मूल्यों और सदाचार का पर्याय है. और इसकी जगह धर्मनिरपेक्षता आती है तो ये किसी को कर्तव्य से निरपेक्ष करना, सदाचार से दूराचारी बनाना है. उन्होंने आगे कहा कि नैतिक मूल्यों से निरपेक्ष किसी व्यक्ति और समाज को करने से वो पतन की पराकाष्ठा होती है. उन्होंने कहा कि मैं पंथ निरपेक्ष हो सकता हूं धर्म निरपेक्ष नहीं.

योगी ने एक बार फिर दोहराया कि धर्मनिरपेक्षता  शब्द आजा़दी के बाद सबसे बड़ा झूठा शब्द है. उन्होंने कहा कि कोई व्यवस्था धर्मनिरपेक्ष नहीं हो सकती. योगी का ये बयान उस वक्त आया है जब गुजरात चुनाव में प्रचार अपने ऊफान पर है.

देखिए वीडियो

विज्ञापन

धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।