डकैतों से भिड़ गया परिवार: देशी कट्टा और फरसा लहराते हुए घर में घुसे थे लुटेरे, झड़प में एक लुटेरे की मौत, तीन बदमाशों को किया गया गिरफ्तार

जशपुर। जिले में एक घर में लूटपाट करने घुसे पांच लुटेरों से घर के सदस्य भिड़ गए. लुटेरों और घर के सदस्यों की झड़प में एक लुटेरे की मौत हो गई. पुलिस ने वारदात में शामिल तीन अन्य लुटेरों को हथियारों के साथ गिरफ्तार कर लिया है. वहीं इस वारदात में शामिल एक डकैत अब भी फरार बताया जा रहा है. बताया जा रहा है कि नक्सली संगठन पीएलएफआई का नाम लेकर ठेकेदारों से लेवी वसूलने , फर्जी पर्चा भेजकर आतंक फैलाने का काम भी ये डकैत कर रहे थे.

दरअसल, सोमवार की रात लगभग साढ़े आठ बजे लोदाम चौकी के जोगीपारा निवासी सुरेश दास बैरागी परिवार के घर 5 अज्ञात व्यक्ति आकर दरवाजा खुलवाए, दरवाजा खोलने पर बदमाश देशी कट्टा और फरसा लहराते हुए घर में घुस गए. बच्चों को कट्टे की नोक पर डरा-धमकाकर बैठा दिए और किचन में आकर गृहस्वामी सुरेश दास को डंडे से मारपीट कर पैसे और जेवरात की मांग करने लगे.

इतना ही नहीं पैसे नहीं देने पर गोली से मार देने की धमकी देने लगे, जिसके बाद परिवार की एक महिला सदस्य ने बदमाश को धान बेचकर घर में रखे 10, 000रू. दे दिए. इसी दौरान एक डकैत ने कट्टे से फायर करने की कोशिश की, तभी परिवार के सदस्यों और डकैत के बीच झड़प शुरू हो गई.

झड़प में डकैत बुरी तरह से घायल हो गया, जिसके बाद उसके साथी  घर में रखे सोना- चांदी का जेवर और दो नग मोबाइल निकालकर एस्बेस्टस सीट की छत को तोड़कर अपने घायल साथी को उठाकर मौके से भाग गए.

घटना की सूचना पर लोदाम पुलिस रात्रि में ही मौके पर पहुंची. इसी दौरान डकैतों के साथियों ने एम्बुलेंस बुलाकर घायल डकैत को जिला अस्पताल भेज दिया. तभी गांव में पहुंची पुलिस को रोड पर एम्बुलेंस जाती दिखी. पुलिस को शंका हुई कि घायल डकैत को लेने ही एम्बुलेंस जा रही है, तब पुलिस ने एम्बुलेंस का स्टाफ बनाकर एक पुलिसकर्मी को बिना वर्दी एम्बुलेंस में भेजा.

घायल व्यक्ति को उसके परिजन और एक अन्य व्यक्ति के साथ में जिला अस्पताल लाए. घायल की गंभीर स्थिति को देखते हुए अंबिकापुर रिफर किया गया. जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई.

पुलिस ने इस मामले में तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है. वहीं एक आरोपी की तलाश की जा रही है. पुलिस ने वारदात में प्रयुक्त हथियार और लूटे गए पैसे बरामद कर लिए हैं. बताया जा रहा है कि सभी आरोपी क्षेत्र में पीएलएफआई का फर्जी नक्सली बनकर उगाही किया करते थे.

इसे भी पढ़ेःं चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने किया दावा, राजधानी में भी हुआ 100% टीकाकरण

">

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!
 
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।