VIDEO: कलेक्टर साहब! अभी ‘जिंदा’ हैं, तो जी लेने दो, थोड़ा सा ‘जाम’ भी पी लेने दो

'जान' जाए पर 'जाम' न जाए ! क्या शराब दुकानों में नहीं फैलता कोरोना ?

अखिलेश जायसवाल,रायपुर। छत्तीसगढ़ में कोरोना वायरस पीक पर है. राजधानी में 10 दिन के लिए लॉकडाउन भी लगा दिया गया है. पूर्ण लॉकडाउन के समय शराब दुकानें भी बंद रहेंगी. शराब न मिलने का गम और लत ने भीड़ को इकठ्ठा करने को मजबूर कर दिया. लिहाजा कलेक्टर साहब के नियमों की शराबियों ने जमकर धज्जियां उड़ाई है. अभी ‘जिंदा’ हैं, तो जी लेने दो, थोड़ा सा ‘जाम’ भी पी लेने दो की स्थिति बन गई है. शराबियों के लिए ‘जान’ नहीं ‘जाम’ कीमती है !

दरअसल रायपुर में 9 अप्रैल से लॉकडाउन का आदेश जारी हो गया है. यही वजह है कि शराब दुकानों में शराबियों का हुजूम उमड़ पड़ा है. शराबी भारी संख्या में शराब लेने पहुंच रहे हैं. हालात यह हैं कि शराब दुकान के बाहर पैर रखने के लिए जगह नहीं है. फिर भी शराबी एक दूसरे को धक्का मारकर खिड़की के सामने तक पहुंच रहे हैं. जिससे उन्हें एक बोतल शराब मिल सके.

इसे भी पढ़ें- पड़ताल: राजधानी में मौत का ‘तांडव’, अस्पतालों में बेड फुल, शव जलाने जगह नहीं, हालात बद से बदतर

जाम लेने उमड़ा हुजूम

सोशल मीडिया में एक वीडियो वायरल हो रहा है. यह वीडियो धरसीवां के सिलतरा स्थित देशी शराब दुकान का है. जहां सैकड़ों की संख्या में लोग जाम लेने के लिए कतार में खड़े हैं. भीड़ इतना है कि लोगों को खड़े होने के लिए जगह नहीं मिल रहा है. कलेक्टर के द्वारा जारी कोरोना गाइडलाइन की जमकर धज्जियां उड़ाई जा रही है.

शराब दुकान में नहीं फैलता कोरोना ?

मजाल है कि पुलिस या जिला प्रशासन की टीम शराब दुकानों में पहुंचे. लोगों की भीड़ को तितर-बितर कर सके. क्योंकि शराब दुकान में कोरोना वायरस तो फैलता ही नहीं है ? यहां किसी के लिए कोई नियम नहीं है, सब अपनी मर्जी के मालिक हैं ? जिला प्रशासन इस भीड़ को रोकने की जहमत भी नहीं उठा रही है, क्योंकि इससे सरकार को भारी भरकम राजस्व जो मिलता है. लेकिन इसके आने वाले परिणाम घातक साबित होंगे ?

इसे भी पढ़ें- रायपुर में लॉकडाउन का आदेश जारी, शराब दुकान, सब्जी और किराना दुकानें भी रहेंगी बंद

आबकारी के निर्देश का पालन नहीं

हाल ही में आबकारी आयुक्त निरंजन दास ने सभी ज़िलों की देशी-विदेशी मदिरा दुकानों के लिए निर्देश जारी किया था. जिसमें कहा गया था कि शासन निर्देशों का पालन किया जाए. लेकिन शराब दुकान न तो सोशल डिस्टेंसिंग दिख रहा न तो लोग मास्क पहने दिख रहे हैं. यहां मौजूद भीड़ हर घर में कोरोना लेकर जाएगी ? खुद को शराब पीकर मस्त रहेंगे, लेकिन परिवार को संक्रमित करेंगे.

मास्क, डिस्टेंसिंग के बिना शराब नहीं देने के थे निर्देश

आदेश में ये भी कहा गया था कि मदिरा दुकानों में सभी कर्मचारी और ग्राहक मास्क पहने. सोशल डिस्टेंसिंग और बिना मास्क पहने व्यक्ति को शराब नहीं दी जाएगी. बावजूद इसके लोगों को शराब दी जा रही है. शराब दुकान में भीड़ बेकाबू हो गई है. जबकि कलेक्टर को टीम भेजकर जगह खाली कराना चाहिए. निर्देशों का पालन नहीं करने पर शराब दुकान को बंद कर देना चाहिए. क्योंकि जान है, जहान है. हालांकि यह वीडियो कबका है, इसकी पुष्टि लल्लूराम डॉट कॉम नहीं करता है. लेकिन ये वीडियो आज के नाम से ही सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है.

राजधानी 10 दिन के लिए लॉकडाउन

बता दें कि कोरोना के बढ़ते स्थिति को देखते हुए रायपुर में 10 दिन के लिए पूर्ण लॉकडाउन लगा दिया गया है. 9 अप्रैल शाम 6 बजे से 19 अप्रैल की सुबह 6 बजे तक रायपुर टोटल लॉकडाउन रहेगा. जिले की सभी सीमाएं सील रहेंगी. इमरजेंसी सेवाओं को छोड़कर बाकी सब कुछ बंद रहेगा.

रायपुर में करीब 15 हजार सक्रिय केस

बता दें कि रायपुर जिले में 7 अप्रैल को 3302 कोरोना मरीज सामने आए थे, जबकि 27 मरीजों की मौत हुई थी. रायपुर में करीब 15 हजार सक्रिय केस हैं. पूरे छत्तीसगढ़ में 10 हजार 310 नए कोरोना पॉजिटिव मरीज़ों की पहचान हुई थी. वहीं 53 लोगों की कोरोना से जान गई थी. इस बीमारी से 2 हजार 609 मरीज़ स्वस्थ होने के बाद डिस्चार्ज किए गए थे. राज्य में कोरोना से अब तक 3 लाख 33 हजार 227 लोग ठीक हो चुके है. अभी तक 4 हजार 469 लोगों की मौत हुई है. राज्य में एक्टिव मरीजों की संख्या 58 हजार 883 है. प्रदेश में आज 42 हजार 289 लोगों का सैंपल लिया गया है.

read more- Coronavirus Effect: Maharashtra Migrant Workers Heads home Amid Fears of Another Lockdown

स्पोर्ट्स की ये खबरें जरूर पढ़ें

मनोरंजन की ये खबरें जरूर पढ़ें

Related Articles

Back to top button
 
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।