बड़ी खबर: भारत में मिला कोरोना का नया वैरिएंट ‘AP स्ट्रेन’, 15 गुना ज्यादा संक्रामक, 3-4 दिन में ही कर रहा बीमार

नई दिल्ली। भारत में कोरोना की दूसरी लहर तबाही मचा रहा है. इसी बीच कोरोना वायरस का एक नया वैरिएंट ‘एपी स्ट्रेन’ (AP Strain) सामने आया है. इस वैरिएंट को आंध्र प्रदेश के कुरनूल में खोजा गया है. यह वैरिएंट 15 गुना ज्यादा संक्रामक है. यानी पहले की अपेक्षा 15 गुना ज्यादा तक संक्रमण फैला सकता है. इसकी वजह से 3 से 4 दिन में ही लोग बीमार हो रहे हैं.

Close Button

वैज्ञानिक भाषा में ‘एपी स्ट्रेन’ को N440K वैरिएंट बुलाया जा रहा है. इसकी खोज सेंटर फॉर सेल्यूलर एंड मॉलिक्यूलर बायोलॉजी (CCMB) के वैज्ञानिकों ने किया है. यह वैरिएंट B1.617 और B1.618 वैरिएंट से ज्यादा ताकतवर है. पहली कोरोना लहर जैसी हालत नहीं है. इस बार नए वैरिएंट तेजी से लोगों को बीमार कर रहे हैं

इसे भी पढ़ें- अब मिलेंगी नई जिंदगियां: सांसद-विधायकों ने मदद के लिए बढ़ाया हाथ, इस अस्पताल को दिया 8 वेंटिलेटर और 300 जम्बो ऑक्सीजन सिलेंडर 

बताया जा रहा है कि कोरोना वायरस का नया एपी स्ट्रेन वैरिएंट जल्दी विकसित हो रहा है. इसका इनक्यूबेशन पीरियड और बीमारी फैलाने की समयसीमा कम है. ये काफी तेजी से फैल रहा है. यह ज्यादा से ज्यादा लोगों को संक्रमित कर रहा है. इस स्ट्रेन से संक्रमित लोग 3 से 4 दिन में ही गंभीर हालत में पहुंच जा रहे हैं. इस वैरिएंट को लेकर अभी वैज्ञानिक भी परेशान हैं.

इसे भी पढ़ें- कोरोना की दूसरी लहर हुई बेकाबू: देश में फिर लग सकता है पूर्ण लॉकडाउन, जल्द होगी घोषणा!

विशाखापट्नम के डिस्ट्रिक्ट कलेक्टर वी.विनय चंद के मुताबिक CCMB में इस समय कई वैरिएंट्स की जांच की जा रही है. कौन सा वैरिएंट कितना खतरनाक है, ये तो CCMB के साइंटिस्ट ही बता पाएंगे. लेकिन यह बात सच है कि नया स्ट्रेन मिला है. उसके सैंपल प्रयोगशाला में भेजे गए हैं.

बताया ये भी जा रहा है कि नया वैरिएंट बड़ी तेजी से युवाओं को टारगेट कर रहा है. ये उन्हें भी नहीं छोड़ रहा है, जो फिटनेस का ख्याल रखते हैं. जिनकी इम्यूनिटी बहुत मजबूत है, उन्हें अपनी चपेट में ले रहा है. इसलिए सबसे अच्छा तरीका यही है कि अच्छे मास्क पहनना, सभाओं से दूर रहना, हाथों को नियमित रूप से साफ करना और जहाँ तक संभव हो सके घर पर रहना जरूरी है.

read more- Aggressiveness towards Hacking: Indian Organizations under Chinese Cyber Attack

Related Articles

Back to top button
 
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।