whatsapp

छत्तीसगढ़ की बेटी का कमाल, यूरोप की सबसे ऊंची चोटी ‘माउंट एल्ब्रुस’ पर अंकिता ने लहराया तिरंगा, देखिए वीडियो…

प्रदीप गुप्ता, कवर्धा। आजादी के 75 साल पूरे होने पर देश जब आजादी का अमृत महोत्सव मना रहा था, उसी समय छत्तीसगढ़ की बेटी अंकिता गुप्ता ने यूरोप की सबसे ऊंची चोटी ‘माउंट एल्ब्रुस’ में देश का तिरंगा लहराने के साथ छत्तीसगढ़ सरकार के न्याय एवं सशक्तिकरण मॉडल को प्रदर्शित कर प्रदेशवासियों के सीने को चौड़ा कर दिया.

कवर्धा की रहवासी और कबीरधाम जिला पुलिस में आरक्षक के पद पर पदस्थ अंकिता गुप्ता ने स्वतंत्रता दिवस पर रूस-जॉर्जिया सीमा पर स्थित यूरोप की सबसे ऊंची चोटी माउंट एल्ब्रुस पर तिरंगा फ़हराकर आजादी के जश्न को यादगार बना दिया, इस चढ़ाई से पहले अंकिता भारत की सबसे ऊंची चोटी लेह-लद्दाख के यूटी कांगड़ी में -39 डिग्री में फतह कर चुकी है.

अंकिता ने अपनी इस सफलता को माता-पिता के साथ देश के स्वतंत्रता संग्राम सेनानी व शहीदों को समर्पित किया. अंकिता ने कहा कि यह सब राज्य सरकार और जिलेवासियों के प्रेम और आशीर्वाद से संभव हो पाया है. अंकित गुप्ता का लक्ष्य सातों महाद्वीपों के चोटियों पर तिरंगा लहराना है.

इसे भी पढ़ें : सूर्य अपनी स्वराशि सिंह में करने जा रहे प्रवेश, इन राशि के जातकों को होगा विशेष लाभ …

यूरोप महाद्वीप की सबसे ऊंची चोटी को फतह करने के लिए अंकिता और उनकी टीम 10 अगस्त को रूस की राजधानी मॉस्को से मिनरलनी वोडी शहर पहुंची. 11 अगस्त को जलवायु-अनुकूलन रोटेशन के दौरान 2346 मी ऊंचाई तक गई. यह रोटेशन वायु दबाव के परिवर्तन और एक्यूट माउंटेन सिकनेस से बचाव के लिए जरूरी होता है.

इसे भी पढ़ें : BREAKING : ‘भगत की कोठी’ ने मालगाड़ी को मारी टक्कर, गोंदिया के पास हुआ हादसा…

12 अगस्त को अपने दल के साथ 3888 मीटर की ऊंचाई पर अपना बेस कैंप बनाया और अगले दो दिन 4500 मीटर तक रोटेशन किए. 14 अगस्त की रात बारह बजे अपने दल के साथ माउंट एल्ब्रुस चोटी के लिए निकल पड़े. 15 अगस्त को सुबह करीब 5.43 मिनट पर पश्चिमी माउंट एल्ब्रुस की चोटी पर समिट कर अंकिता ने तिरंगा लहराया.

देखिए वीडियो –

Related Articles

Back to top button