Exclusive: रायपुर की इस कंपनी के पास नहीं है स्टेडियम बनाने का अनुभव ! मिला दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा क्रिकेट स्टेडियम बनाने का ठेका

जयपुर में बनने वाला है दुनिया का तीसरा और भारत का दूसरा सबसे बड़ा क्रिकेट स्टेडियम

प्रतीक चौहान. राजधानी रायपुर की एक कंपनी को दुनिया के तीसरे सबसे बड़े क्रिकेट स्टेडियम बनाने का ठेका मिला है. लेकिन सूत्र बताते है कि इस कंपनी के पास पहले क्रिकेट स्टेडियम बनाने का कोई अनुभव नहीं है.

ये क्रिकेट स्टेडियम जयपुर में बनने वाला है. जिस कंपनी को ये स्टेडियम बनाने का ठेका मिला है उसका नाम है डीवी प्रोजेक्ट्स लिमिटेड (Dee Vee Projects Limited). zaubacorp.com पर मौजूद जानकारी के मुताबिक ये कंपनी 9 years, 3 month, 11 days पुरानी है. लेकिन कंपनी की वेबसाइट के मुताबिक वह 30 वर्षों के कार्य का अनुभव है.

कंपनी ने ये ठेका अनुमानित लागत से करीब 10 प्रतिशत कम लागत में लिया है. हालांकि ये कंपनी छत्तीसगढ़ सरकार के कई बड़े प्रोजेक्ट पर यह कंपनी काम कर रही है. हालांकि इस संबंध में कंपनी का पक्ष लेने कंपनी के डायरेक्टर विकास रंजन महतो और कंपनी के लैंडलाइन नंबर पर फोन कर लेने का प्रयास किया गया. लेकिन डायरेक्टर से फोन पर बात नहीं हो सकी और ऑफिस से खबर लिखे जाने तक कोई पक्ष नहीं मिला था.

जानें इस स्टेडियम की खासियतें

  • 75,000 लोगों के बैठने की क्षमता
  • नए स्टेडियम में दो अभ्यास मैदान
  • अकादमी, क्लब हाउस होटल और अन्य सभी अत्याधुनिक सुविधाएं
  • टेडियम का निर्माण लगभग 100 एकड़ जमीन पर होगा
  • देश में नरेन्द्र मोदी स्टेडियम (मोटेरा) के बाद दर्शक संख्या के लिहाज से यह दूसरा सबसे बड़ा स्टेडियम होगा.
  • इससे बड़े शहरों का जुड़ाव रहेगा. कोटा, अजमेर, दौसा, दिल्ली की ओर से आने वाले दर्शक आसानी से पहुंच सकेंगे.

    देश व दुनिया में होगा ये कद

75000 दर्शक क्षमता वाला यह स्टेडियम इस क्षमता के लिहाज से मोटेरा और मेलबर्न के बाद दुनिया का तीसरा और भारत का दूसरा बड़ा स्टेडियम होगा. पहले चरण में 40 हजार और दूसरे चरण में 35 हजार दर्शकों क्षमता विकसित होगा. पहले फेज की निर्माण लागत 300 से 350 करोड़ आंकी गई है. इसके लिए बीसीसीआई से 100 करोड़ मिलेंगे. वहीं राजस्थान क्रिकेट एसोसिएशन (आरसीए) 100 करोड़ का लोन लेगी. शेष राशि कार्पोरेट हाउस पेवेलियन एवं आरसीए स्वयं खर्च करेगा.

 

Related Articles

Back to top button
 
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।