whatsapp

MP कांग्रेस को बड़ा झटका: कमलनाथ के करीबी नरेंद्र सलूजा BJP में शामिल, बोले- ऐसे नेता के साथ नहीं रह सकता, जिस पर मेरे धर्म के लोगों की हत्या का आरोप हो

शब्बीर अहमद,/ अमृतांजी जोशी, भोपाल। मध्य प्रदेश में राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा के बीच कांग्रेस को बड़ा झटका लगा है। कमलनाथ के करीबी माने जाने वाले कांग्रेस नेता नरेंद्र सलूजा ने बीजेपी का दामन थाम लिया है। सीएम हाउस में सीएम शिवराज सिंह चौहान ने उन्हें पार्टी की सदस्यता दिलाई।

MP Morning News: आज डिंडोरी दौरे पर रहेंगे सीएम शिवराज, पेसा जागरूकता सम्मेलन में होंगे शामिल, उच्च माध्यमिक शिक्षक पद के लिए डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन के लिए आज अंतिम मौका

नरेंद्र सलूजा कमलनाथ के करीबी नेताओं में गिने जाते थे। पीसीसी चीफ कमलनाथ के वो मीडिया समन्वयक थे। बताया जा रहा है कि इंदौर में खालसा विवाद के बाद दोनों के बीच दूरियां बढ़ी थी। दरअसल, कमलनाथ गुरुनानक देव की जयंती में आयोजित कार्यक्रम में शामिल होने इंदौर के खालसा कॉलेज गए थे। इस दौरान पंजाब से आए कीर्तनकार मनप्रीत सिंह कानपुरी ने उनका विरोध किया था। तब से मामला बिगड़ गया था। कांग्रेस का दावा है कि नरेंद्र सलूजा को पार्टी से 13 नवबंर को निष्कासित कर दिया गया था।

सीएम शिवराज ने कहा कि नरेंद्र सलूजा जी बहुत अच्छी सोच रखने वाले नेता हैं। आज वो बीजेपी में सम्मिलित हो रहे हैं। ऐसा नेता जो अपने तर्कों के आधार पर अपनी बात रखते हैं, वो बीजेपी के पास होंगे। मैं बीजेपी में उनका स्वागत करता हूँ।

जिन पर धर्म के लोगों पर हत्या का आरोप, उनके साथ नहीं रह सकता

बीजेपी में शामिल होने के बाद नरेंद्र सलूजा ने कहा, मुझे कमलनाथ जी ने सबसे पहला पद दिया था, जबसे मैं उनके साथ जुड़ा रहा, मुझे कई लोगों ने कहा कि 84 के दंगों में उनका नाम है। मैं इग्नोर करता रहा। लेकिन इंदौर में गुरुनानक कार्यक्रम में कीर्तनकार ने जो शब्द कहे वो मेरे कान में गूंजते रहे, उनके शब्दों ने मेरी आत्मा को झंझोड़ दिया। मैंने उस दिन से कमलनाथ जी से ना काम किया, ना मिला। ऐसे व्यक्ति के साथ मैं कभी नहीं रह सकता, जिस पर मेरे धर्म के लोगों की हत्या का आरोप हो। ऐसी पार्टी और नेता को मैं ठोकर मार रहा हूं।

कांग्रेस ने साधा निशाना

नरेंद्र सलूजा के BJP में शामिल होने पर कांग्रेस BJP पर हमलावर हो गई है। कांग्रेस नेता अब्बास हफीज ने कहा कि BJP बार बार ऐसे कृत्य करती रहती है, जिससे BJP की छवि लगातार खराब होती जा रही है। ग्वालियर में दो महीने पहले क्राइम ब्रांच ने उन पर एफआइआर दर्ज की थी। बार बार नरेंद्र सलूजा को वहां से तलब किया जा रहा था, वो डर के कारण जा नहीं पा रहे थे। डर के आगे घुटने टेक दिए और BJP का दामन थाम लिया। उन्होंने आरोप लगाया कि BJP ने भारत जोड़ो यात्रा के दौरान विधायक को तोड़ने की पूरी कोशिश की थी, लेकिन विधायक नहीं गए तो उन्होंने सोचा कि पदाधिकारी को ही तोड़ लिया जाए।

वहीं कांग्रेस का यह भी दावा है कि 13 नवंबर को ही नरेंद्र सलूजा को पार्टी से निष्कासित कर दिया गया था।
एक पत्र वायरल हुआ। पत्र में नरेंद्र सलूजा को निष्कासित करने की बात लिखी है। पार्टी के वरिष्ठ नेताओं पर आपत्तिजनक टिप्पणी करने का आरोप है।

Breaking: इलाज के दौरान कैदी की संदिग्ध मौत, परिजनों ने लगाए गंभीर आरोप

अगले साल होने है विधानसभा चुनाव

बता दें कि MP अगले साल विधानसभा चुनाव भी होने वाले हैं। साथ ही इस दौरान कांग्रेस नेता राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा एमपी में है। ऐसे समय में कांग्रेस के मीडिया समन्वयक बीजेपी में शामिल हुए हैं।

महिला डॉक्टर ने सहकर्मी पर लगाए सेक्सुअल हैरेसमेंट के आरोप, SDM ने जांच के लिए गठित की टीम

BREAKING : जोबट विधायक सुलोचना रावत की तबीयत बिगड़ी, ब्रेन हेमरेज की शिकायत, हालत गंभीर

Read more- Health Ministry Deploys an Expert Team to Kerala to Take Stock of Zika Virus

Related Articles

Back to top button