Contact Information

Four Corners Multimedia Private Limited Mossnet 40, Sector 1, Shankar Nagar, Raipur, Chhattisgarh - 492007

मोसीम तड़वी, बुरहानपुर। आज देश अपना 73वां गणतंत्र दिवस मना रहा है. आज हम जिस स्वतंत्र भारत में सांस ले रहे हैं उसे आजाद कराने में न जाने कितने क्रांतिकारियों ने अपने प्राण न्योछावर कर दिए, ऐसे ही क्रांतिकारियों में तीन नाम भगत सिंह, सुखदेव, और राजगुरु का है, जो देश की रक्षा के लिए हंसते-हंसते फांसी पर झूल गए. आज के युवाओं में ऐसे वीरों के लिए अटूट प्रेम और सम्मान है. ताजा उदाहरण बुरहानपुर में गणतंत्र दिवस समारोह के मौके पर देखने को मिला.

बुरहानपुर के नेहरू स्टेडियम ग्राउंड पर 26 जनवरी के अवसर पर संस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन चल रहा था. कार्यक्रम में देशभक्ति पर आधारित भगत सिंह, सुखदेव, और राजगुरु की फांसी का चित्रण दिखाया जा रहा था, एक लॉ की छात्रा यह देकर रोने लग गई, जिसका वीडियो वायरल हो रहा है. जब छात्रा से पूछा गया तो शुभांगी चौहान ने कहा कि जब भारत माता के वीरों को फांसी दी गई थी तो उन्हें कितना कष्ट हुआ होगा. इस बात का एहसास करते हुए मैं ग्राउंड पर रो पड़ी.

VIDEO: गणतंत्र दिवस समारोह में वीआईपी गेट से घुसे दो सांड, बाहर निकालते समय पुलिसकर्मियों पर किया हमला, दो जवान घायल, एक की तीन पसलियां टूटी

सिरपुर गांव की रहने वाली शुभांगी चौहान एलएलबी की छात्रा है. वह बुरहानपुर के सेवा सदन महाविद्यालय से लॉ की पढ़ाई कर रही है. जब साथी छात्र भगत सिंह, सुखदेव, और राजगुरु की फांसी का चित्रण कर रहे थे, तभी शुभांगी भावुक हो गई और वह फूट-फूटकर रोने लग गई. वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है.  शुभांगी चौहान ने बताया कि जब उन्हें फांसी दी गई होगी तो उन्हें कितना दुख, दर्द हुआ होगा यही सोचकर रोने लगी.

गोवंश को लेकर गोपाल का नाथ पर बड़ा आरोपः मंत्री भार्गव बोले-कमलनाथ के कार्यकाल में हुई सबसे अधिक गायों की हत्या

Read more- Health Ministry Deploys an Expert Team to Kerala to Take Stock of Zika Virus

">
Share: