whatsapp

Padma Shri Award: उमरिया की चित्रकार जोधइया बाई और जबलपुर के डॉक्टर एमसी डाबर को मिला पद्मश्री पुरस्कार

संजय विश्वकर्मा, उमरिया। गणतंत्र दिवस (Republic day) की पूर्व संध्या पर बुधवार को पद्म पुरस्कार (Padma Awards) विजेताओं के नामों की घोषणा कर दी गई है। मध्य प्रदेश के उमरिया जिले की रहने वाली जोधईया बाई (Jodhaiya Bai) और जबलपुर डॉ एमसी डाबर को पद्मश्री पुरस्कार (Padma Shri Award) से नवाजा गया है।

जगद्गुरु के कहने पर थम गई बारिश! रामकथा के दौरान बरसात होने पर रामभद्राचार्य बोले- आज इंद्र को रोकनी होगी वर्षा और रुक गई बारिश, हैरान रह गए भक्त

चित्रकार 83 वर्षीय जोधईया बाई को कला के क्षेत्र में पद्मश्री पुरस्कार मिला है। 67 वर्ष की उम्र में जनगण तस्वीर खाना के संस्थापक आशीष स्वामी की देखरेख में जोधईया बाई ने चित्रकारी सीखना चालू किया था। उनके द्वरा बनाई गई पेंटिंगों की पेरिस, मिलान इटली, फ्रांस, इंग्लैंड, अमेरिका और जापान आदि देशों में प्रदर्शनी लग चुकी है।

भाजपा को दुश्मनों की जरूरत ही नहीं, अपने लोग ही काफी, जानिए उमा भारती ने क्यों कही ये बात ?

जोधईया बाई पुरानी भारतीय परंपरा में देवलोक, भगवान शिव और बाघ की अवधारणा सहित पर्यावरण और वन्य जीवन के महत्व पर आधारित चित्र बनाती हैं। बता दें कि साल 2022 में अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के दिन उनको राष्ट्रपति के हाथों से नारी शक्ति पुरस्कार भी मिल चुका है।

अच्छी खबर: मध्यप्रदेश हुआ कोरोना मुक्त, प्रदेश में एक भी एक्टिव मरीज नहीं

डॉ एमसी डाबर को मिला पद्मश्री सम्मान

वहीं जबलपुर के डॉ एमसी डाबर को भी पद्मश्री सम्मान मिला है। डॉक्टर डॉबर 51 साल से सेवा कर रहे हैं। वो आर्मी में भी डॉक्टर रह चुके हैं। पहले वो 2 रूपए में लोगों का इलाज करते थे। आज की तारीख में 20 रूपए में इलाज कर रहे हैं। वो कभी छुट्टी नहीं लेते हैं। वहीं डॉक्टर एमसी डावर को पद्मश्री मिलने पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बधाई दी है।

Read more- Health Ministry Deploys an Expert Team to Kerala to Take Stock of Zika Virus

Related Articles

Back to top button