नक्सली नहीं चाहते थे ग्रामीण क्षेत्रों में पहुंचे राशन, इसीलिए पुल में किया था ब्लास्ट, डीआईजी, कलेक्टर और एसपी ने मौके पर पहुंचकर दुरुस्त करवाया रास्ता

शिवा यादव,सुकमा। सुकमा जिले के गोरगुंडा के रेंगापारा के पास देर रात नक्सलियों ने आईईडी ब्लास्ट कर पुल को क्षतिग्रस्त कर दिया था. जिससे ग्रामीण क्षेत्रों में लॉकडाउन की वजह से जाने वाली राशन सप्लाई की वाहन न पहुंच पाए और ठीक हुआ भी कुछ ऐसा ही. लेकिन सुबह सीआरपीएफ के डीआईजी योग्ज्ञान, कलेक्टर चंदन कुमार, एसपी शलभ सिन्हा मौके पर पहुंचकर सड़क का निरीक्षण किया और जेसीबी के जरिए पुल की मरम्मत कराया. जिसके बाद वाहनों का आवागमन फिर से शुरु हुआ.

नक्सलियों के इस ब्लास्ट में पुल के एक बड़े हिस्से को काफी नुकसान पहुंचा है. इसके साथ ही ब्लास्ट के कारण एक हिस्सा कमजोर हो गया है. पुल को दुरुस्त करवाने के बाद सभी अधिकारियों के मौजूदगी में पीडीएस राशन वितरण प्रणाली की वाहनों को पार करवाया गया. सैकड़ों ग्रामों में इसी मार्ग से राशन पहुंचाया जाता है.

इसी से जुड़ी खबर- विकास की राह में नक्सली रोड़ा, IED ब्लास्ट कर उड़ाया पुल, आवागमन हुआ पूरी तरह बंद

पुल को उड़ाने के लिए नक्सलियों ने करीब 40 से 50 किलो का शक्तिशाली आईईडी का उपयोग किया था. लेकिन पुल को गिराने का मांशूबा सफल नहीं हो पाया. ब्लास्ट से पुल कमजोर जरूर हुआ है, मगर अभी आवागमन जारी है. हालांकि यह पुल काफी पुराना हो चुका है. जगरगुंडा तक वाहनों का आवागमन इसी मार्ग से किया जाता है. कलेक्टर चंदन कुमार ने कहा कि कमजोर हुए हिस्से को जल्द ठीक कर दिया जाएगा और किसी भी कीमत पर मार्ग अवरुद्ध नहीं होने देंगे.

Related Articles

Back to top button
Close
Close
 
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।