एमपी में कोरोना की तीसरी लहरः खौफ में पैरेंट्स बच्चों को नहीं भेज रहे स्कूल, 10 से 15 फीसदी छात्र ही आ रहे, खाली पड़ी क्लास

शब्बीर अहमद, भोपाल। एमपी मे कोरोना की तीसरी लहर ( third wave of corona in mp) ने दस्तक दे दी है रोज कोरोना के मामलों में जबरदस्त उछाल देखने को मिल रहा है। सरकार ने कोविड गाइडलान (covid guideline) को और सख्त किया है लेकिन स्कूल अभी खूले हुए जिससे अभिभावकों की चिंताएं बढ़ गई है। 

इसे भी पढ़ेः BREAKING: MP में नहीं लगेगा लॉकडाउन, स्वास्थ्य मंत्री प्रभु राम चौधरी ने आर्थिक स्थिति बंद करने से किया इंकार, कांग्रेस के इनाम घोषित करने पर कहा- उन्हें मुझसे प्रेम इसलिए लापता की बात कही

वहीं कोरोना बढ़ने के साथ ही पैरेंट्स ने बच्चों को स्कूल भेजना लगभग बंद कर दिया। सरकार ने 50 फीसदी छात्रों के साथ स्कूल चलाने का आदेश जारी किया है। वहीं स्कूल में सिर्फ 10 से 15 फीसदी बच्चे ही आ रहे हैं।

 इसे भी पढ़ेः BIG BREAKING: अनुसुइया उइके के साथ मारपीट का VIDEO वायरल, महिला ने बाल पकड़कर घसीटा और की पिटाई

दूसरी तरफ एमपी सरकार कोरोना का संक्रमण कम करने के लिए लगातारा कदम उठा रही है। बुधवार को भी कोविड गाइडलाइन में बदलाव किए गए लेकिन स्कूलों को लेकर कोई फैसला नहीं लिया है। स्कूल पहले की तरफ 50 फीसदी के साथ ऑफलाइन जारी रहेगी सरकार भले ही स्कूलों को लेकर कोई फैसला नहीं ले पा रही है लेकिन अभिभावकों ने निर्णय ले लिया है। वो अपने बच्चों को स्कूल नहीं बेच रहे हैं। एक क्लास मे सिर्फ 7 से 8 बच्चें आ रहे हैं जो सिर्फ 10 से 15 फीसदी उपस्थिति है।

इसे भी पढ़ेः BREAKING: MBBS छात्र ने तीन बच्चों की मां के साथ किया दुष्कर्म, FIR के बाद छात्र हॉस्टल से फरार

बढ़ते संक्रमण के कारण अभिभावक काफी परेशान वो अपने बच्चों को भेजने के लिए बिल्कुल तैयार नहीं है। अभिभावकों का कहना है तीसरी लहर आ चुकी है और वो अपने बच्चों को लेकर कोई ऐसे फैसला नहीं लेंगे जिससे वो घतरे में पड़े इसलिए हम अपने बच्चों को स्कूल नहीं भेज रहे हैं।

इसे भी पढ़ेः LIVE: पीएम मोदी की सुरक्षा में चूक मामला, PM की दीर्घायु के लिए वीडी शर्मा महाकाल मंदिर में कर रहे ‘महामृत्युंजय मंत्र जाप’, सीएम शिवराज गुफा मंदिर पहुंचे, कांग्रेस ने बताया नौटंकी

पढ़ाई के नुकसान को देखते हुए सरकार ने खोले थे स्कूल 

सरकार ने ऑफलाइन क्लास शुरू करके ये मैसेज दिया था कि ऑनलाइन क्लासेस से पढ़ाई को नुकसान हो रहा है। इसलिए स्कूल खोलना जरूरी है लेकिन अब कोरोना के डर से अभिभावक स्कूल अपने बच्चों को नहीं भेज रहे हैं। अब सरकार क्या कदम उठाएगी ये सबसे बड़ा सवाल है।

Read more- Health Ministry Deploys an Expert Team to Kerala to Take Stock of Zika Virus

">

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!