बड़े-बेड़मा सड़क मरम्मत की मांग को लेकर जनप्रतिनिधियों ने कलेक्टर से की मुलाकात, कहा- मांग पूरी नहीं हुई तो होगा आंदोलन

पंकज भदौरिया, दंतेवाड़ा। जिले के पालनार से बेड़मा गांव तक कि जर्जर सड़क का मुद्दा जमकर गरमाया हुआ. लगातार मीडिया में भी यह सड़क सुर्खिया बटोर रही है. क्योंकि इस सड़क पर लम्बे समय से कभी कोई काम ही नहीं हुआ है. वहीं दूसरी तरफ निर्माण शाखाओं के द्वारा इस सड़क के नाम पर आई राशि कही और दूसरी जगह सड़क बनाने पर खर्च कर दी गई, जिसकी जांच भी जिला प्रशासन करवा रहा है.

वहीं अब बेड़मा गांव से जनप्रतिनिधि जिला पंचायत सदस्य शंकर कुंजाम और कटेकल्याण जनपद उपाध्यक्ष जितेंद्र सोढ़ी ग्रामीणों के साथ दंतेवाड़ा कलेक्टर दीपक सोनी से भेंटवार्ता करने दंतेवाड़ा कलेक्ट्रेट सड़क की मांग फिर से करने पहुंचे हुए थे.

इस भी पढ़े- नेताओं के बेड़मा गांव की इकलौती सड़क तक बदहाल, परेशान ग्रामीणों के साथ जनप्रतिनिधि लगा रहे गुहार

जहां पर ग्रामीणों ने पत्र पर लिखा है कि वर्ष 2017-18 में डीएमएफ मद से पीएमजीएसवाय को इस सड़क के लिए प्रशासकीय स्वीकृति दी गई थी, पर उसे बाद में निरस्त कर दिया गया साथ ही लगातार सड़क दुरुस्तीकरण की मांग दंतेवाड़ा कलेक्टर से पत्राचार द्वारा बेड़मा से जनप्रतिनिधि कर रहे हैं. पर समस्या जस की तस बनी हुई है. इस पर फिर से सड़क की मांग करते हुऐ पत्र में लिखा है कि अगर मांग पूरी नहीं होती है तो ग्रामीण आंदोलन करने मजबूर होंगे.

वहीं जनपद उपाध्यक्ष जितेंद्र सोढ़ी ने जानकारी दी कि कलेक्टर ने बेड़मा सड़क की मांग को गंभीरता से लिया. साथ ही सड़क पर बरती गई पूर्व की अनियमियत्ता की जांच के बाद सड़क की मांग की स्वीकृति भी देने की ग्रामीणों से बात कही.

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!
 
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।