#राम_मंदिर_घोटाला ट्विटर पर कर रहा ट्रेंड, जानिए क्या है पूरा मामला ?

नई दिल्ली। अयोध्या में श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट पर जमीन खरीदने में भारी भ्रष्टाचार का आरोप लगा है. समाजवादी पार्टी के नेता और पूर्व विधायक तेजनारायण पांडेय उर्फ़ पवन पांडेय ने आरोप लगाया है कि 2 करोड़ रुपये में ख़रीदी गई ज़मीन महज़ कुछ मिनटों बाद 18.5 करोड़ रुपये में ख़रीदी गई. जिसके बाद से #राम_मंदिर_घोटाला, #श्रीराम_के_दुश्मन और #BJP_का_श्रीराम_को_धोखा ट्विटर पर ट्रेंड कर रहा है. सोशल मीडिया में लोग एक से बढ़कर एक मीन्स शेयर कर रहे हैं.

इस आरोपी के बाद ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने एक बयान जारी कर कहा कि राम मंदिर निर्माण के लिए अभी तक जितनी भी जमीनें खरीदी गई हैं, उनकी कीमत खुले बाजार से काफी कम है. उन्होंने कहा कि हम पर आरोप लगते ही रहते हैं. 100 साल से आरोप ही देख रहे हैं हम लोग. हम पर महात्मा गांधी की हत्या के आरोप लगे. आरोप की हम चिंता नहीं करते, आप भी चिंता मत करिए. आप खूब लगाइए. आप अपना काम करिए, हम अपना काम करेंगे.

जमीन खरीद में भ्रष्टाचार के आरोप लगने पर कांग्रेस भी हमलावर हो गई है. कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट कर कहा कि हे राम, ये कैसे दिन…आपके नाम पर चंदे लेकर घोटाले हो रहे हैं. बेशर्म लुटेरे अब आस्था बेच ‘रावण’ से अहंकार में मदमस्त हैं. सवाल है कि 2 करोड़ रुपए में खरीदी जमीन 10 मिनट बाद ‘राम जन्मभूमि’ को 18.50 करोड़ में कैसे बेची? अब तो लगता है…कंसो का ही राज है, रावण हैं चहुं ओर!

आप नेता संजय सिंह ने कहा कि 2 करोड़ की ज़मीन खरीद और 18 करोड़ के एग्रीमेंट, दोनों में राम जन्मभूमि ट्रेस्ट के सदस्य अनिल मिश्रा गवाह हैं. उनका कहना है कि इस तरह हेराफेरी करके दान के पैसों में 16 करोड़ की चपत लगाई गई है. उन्होंने कहा कि ये मनी लॉन्ड्रिंग का मामला है. तत्काल इस मामले की सीबीआई और ईडी से जांच कराई जाए.

read more- Corona Horror: US Administration rejects India’s plea to export vaccine’s raw material

Related Articles

Back to top button
 
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।