सफाई कर्मचारियों के हड़ताल पर जाने से शहर में जगह-जगह लगा कचरे का ढेर, लोगों की परेशानी से जिम्मेदार बेपरवाह

रोहित कश्यप, मुंगेली। नगर पालिका मुंगेली के प्लेसमेंट सफाई कर्मचारी अपनी विभिन्न मांगोंको लेकर पिछले 2 दिनों से हड़ताल पर हैं, जिससे शहर की स्वास्थ्य व्यवस्था चरमरा गई है. लोग बदलू और जगह-जगह कचरे का ढेर पड़े रहने से परेशान हैं.

Close Button

हड़ताल पर जाने की वजह बताते हुए सफाई कर्मचारी संघ के अध्यक्ष कमलेश चौहान ने कहा कि सभी प्लेसमेंट सफाई कर्मियों को वेतन से ईपीएफ और जीपीएफ की राशि में कटौती जरूर की जा रही है, लेकिन 12 से 15 माह तक की राशि तक जमा नहीं की गई है. इसके अलावा इस राशि का कोई हिसाब-किताब भी नहीं है.

सफाई कर्मचारियों ने आरोप लगाया है कि पूरे 30 दिन काम करने के बावजूद 29 दिन का ही वेतन बनाया जाता है. बीते माह फरवरी में पूरे माह काम करने के बावजूद 15 दिन का ही वेतन दिया गया. इन सभी परेशानियों से सीएमओ को कई बार अवगत कराया गया, शिकायत भी की गई, लेकिन उन्होंने कोई ध्यान नहीं दिया. इस पर 12 जून से काम बंद का अल्टीमेटम दिया गया था, इसके बाद भी कोई कार्रवाई नहीं होने पर हड़ताल पर जाने का निर्णय लिया गया है.

इस संबंध में मुख्य नगर पालिका सीएमओ राजेन्द्र पात्रे का पक्ष जानने के लिए जब उनसे संपर्क किया गया तो उन्होंने कॉल रिसीव नहीं किया. वहीं नगर पालिका अध्यक्ष सन्तु लाल सोनकर का कहना है कि जल्द ही नगर पालिका अधिकारी से चर्चा कर इस मसले का निराकरण निकाला जाएगा.

वहीँ एसडीएम सी के ठाकुर ने कहा कि नगर पालिका के अधिकारीयों से इस संबंध में जानकारी लेकर इस मसले का निराकरण किया जाएगा.

Related Articles

Back to top button
Close
Close
 
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।