मिसाल: दूल्हा कर रहा था दुल्हन का इंतजार, दुल्हन परीक्षा हाल में दे रही थी 12वीं की परीक्षा

मुंबई. महाराष्ट्र के औरंगाबाद की बारहवीं कक्षा की एक छात्रा ने पढ़ाई के लिए अपनी प्रतिबद्धता की नई मिसाल पेश की है। दूल्हा शादी समारोह में दुल्हन का इंतजार कर रहा था लेकिन युवती अर्थशास्त्र विषय की परीक्षा देने परीक्षा केन्द्र गई।

हरसुल गांव की निवासी 20 साल की रेणुका पवार की शनिवार को एक सामूहिक विवाह समारोह में शंकर से शादी होनी थी। उसी दिन उसकी बारहवीं कक्षा की परीक्षा थी।

रेणुका ने कहा कि उसने पहले ही कह दिया था कि शादी की तारीख इस तरह से तय की जाए कि उसकी परीक्षा की तारीख से अलग हो। पिता की मौत के बाद मुश्किल समय गुजारने वालीं और गरीब परिवार से आने वालीं रेणुका ने कहा कि उसके लिए शिक्षा महत्वपूर्ण है और उसने यह सुनिश्चित करने के लिए कड़ी मेहनत की कि उसकी पढाई नहीं छूटे।

शनिवार को दोपहर करीब सवा दो बजे जैसे ही वह विवाह स्थल पहुंची, वहां तीन शादियों के लिए एकत्रित हुए लोगों ने उसका स्वागत तालियां बजाकर किया। कुछ समय उपरांत उसकी और शंकर की शादी हो गया। बता दें कि इस तरह की कई घटना पहले भी सामने आ चुकी है जहां छात्राओं ने शिक्षा के लिए अपनी प्रतिबद्धता की मिसाल पेश की है।

विज्ञापन

धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।