बिहार में भूपेश ने नीतीश से पूछा ‘का किए’, बोले- बिहार में बदलाव की बयार, कांग्रेस 50 पार

रायपुर. मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने पटना में अपना चुनावी अभियान की शुरुआत करते हुए दावा किया है कि बिहार में कांग्रेस पार्टी इस बार 50 से ज़्यादा सीटें जीतेंगी. भूपेश बघेल ने कहा कि बिहार में अब गठबंधन की सरकार बनेगी और नया सवेरा आएगा.

Close Button

भूपेश बघेल ने बिहार की नीतीश सरकार पर हमला बोलते हुए उन्हें पलटूराम की संज्ञा दी. भूपेश बघेल ने एक तरफ छत्तीसगढ़ सरकार के किसान के लिए लिए गए फैसलों को बयान किया तो दूसरी तरफ नए कृषि बिल को लेकर आगाह किया. भूपेश बघेल कहा कि सुशासन बाबू बताएं कि 2006 में मंडी एक्ट खत्म करने के बाद बिहार के किसानों के जीवन में क्या अंतर आया. उन्होंने कहा कि नए कानून से देश के केवल 4-5 बड़े उद्योगपतियों को फायदा होगा. जो रेट तय करेंगे. बाकि मझौले व्यापारी उनके एजेंट बनकर रह जाएंगे. उन्होंने कहा कि पूंजीपति किसानों से ज़मीन लंबे लीज़ पर ले लेंगे और मेड़ों को समाप्त कर देंगे जिसके बाद 10-15 साल बाद किसान अपनी ज़मीन नहीं पहचान पाएंगे. भूपेश बघेल ने इसे किसानों को अपने खेतों में मज़दूर बनाने की साज़िश करार दिया.

भूपेश बघेल ने अपनी सरकार की उपलब्धियों को गिनाया. इस दौरान बिहार चुनाव में कांग्रेस का नया गीत -”बोले बिहार, बदलें सरकार…” – लांच किया.

उन्होंने नरेंद्र मोदी पर हमला बोलते हुए कहा कि वे झटका देने वाले प्रधानमंत्री हैं. पहला झटका नोटबंदी के रुप में दिया. दूसरा झटका जीएसटी का दिया. तीसरा झटका बिना सोचे समझे लॉक डाउन करके दिया. जिसका सबसे ज़्यादा असर गरीबों पर पड़ा. उन्होंने कहा कि उनकी सरकार ने राज्य से गुज़रने वाले श्रमिकों के लिए गाड़ियों से लेकर चप्पल तक की व्यवस्था की. उन्होने नीतीश से पूछा कि उन्होंने लॉक डाउन के दौरान क्या किया.

बिहार की धरती को नमन कर कहा- बदलाव की बयार बह रही है

भूपेश बघेल ने सबसे पहले बिहार की धरती को नमन करते हुए कहा कि आज 15 साल सुशासन बाबू के हिसाब-किताब देखने का समय है. विकास के हर इंडेक्स में बिहार सबसे पिछड़ा है. लेकिन इस बार बिहार में बदलाव की बयार बह रही है.

भूपेश बघेल ने अपनी सरकार के कामकाज का ब्यौरा देते हुए कहा कि उनकी सरकार वादों को पूरा करने वाली सरकार है. उन्होंने  कहा कि राहुल गांधी ने कर्जमाफी का जो वादा चुनाव से पहले किया, उसे उनकी सरकार ने एक घंटे में पूरा किया. भूपेश बघेल ने कहा कि उनकी सरकार ने 2500 रुपये में धान खरीदा. लेकिन मोदी सरकार ने इसमें यह कहकर अड़ंगा लगा दिया कि जो सरकार किसानों को बोनस देगी उसका चावल नहीं खरीदा जाएगा. इसके बाद उन्होंने राजीव गांधी किसान न्याय योजना के तहत किसानों को 10 हज़ार रुपये दिया.

भूपेश बघेल ने कहा कि उनकी सरकार ने 1998 के बाद पहली बार शिक्षकों की भर्ती की.इसके अलावा पुलिस की भर्ती हो रही है. जबकि असिस्टेंट प्रोफेसर की भी भर्ती की जा रही है. भूपेश बघेल ने कहा कि गोधन न्याय योजना के जरिए छत्तीसगढ़ की सरकार दुनिया की पहली सरकार है जो गौपालकों से 2 रुपये में गोबर खरीदती है.

भूपेश बघेल ने कहा कि उनकी सरकार ने लॉक डाऊन के दौरान ही वनोपज की खऱीदी में नया कीर्तिमान बनाया. आज पूरे देश का लघुवनोपज की खरीदी में छत्तीसगढ़ का हिस्सा 74 फीसदी का है. वनोपज की खऱीदी पर राज्य सबसे ज़्यादा पैसे दे रही है. उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ पहला राज्य है जहां मंदी का कोई असर नहीं है. उन्होंने कहा कि उनकी सरकार ने मनमोहन, सोनिया और राहुल के कहे के मुताबिक आम जनता की जेबों में पैसे डाल दिए.

एक सवाल के जवाब में भूपेश बघेल ने कहा कि उनकी सरकार आने पर बाड़ से निपटने के लिए योजना बनाकर निजात पाने की कोशिश की जाएगी.

 

 

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!
 
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।