गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू ने बैठक में दिए निर्देश, पुलिसिंग व्य़वस्था को मजबूत करने सीएसपी, एडिशनल एसपी करें गश्त

सत्यपाल राजपूत, रायपुर। लल्लूराम डॉट कॉम की खबर का बड़ा असर हुआ है. प्रदेश में बढ़ते अपराध को लेकर लगातार खबर प्रकाशित की थी. राजधानी रायपुर की पुलिसिंग व्यवस्था पर सवाल उठाए थे. खबर प्रसारित होने के बाद गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू ने प्रदेश के आला अधिकारियों की बैठल ली. उन्होंने बढ़ते अपराध पर बड़ा निर्णय लिया है. अब गश्त सीएसपी व एडिशनल एसपी करेंगे.

गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू ने विभागीय बैठक में पुलिसिंग व्यवस्था को लेकर गृहमंत्री ने आला अधिकारियों को कड़े शब्दों में समझाइश दी है. मंत्री ने कहा कि एक दो जिलों में अपराध बढ़ा है, लेकिन बाक़ी जिलों में कम हुआ है. मंत्री ने माना कि रायपुर में चाक़ूबाज़ी की घटना बढ़ी है. इसलिए पुलिसिंग व्यवस्था को दुरुस्त करने और किसी भी मामले में कोताही नहीं बरतने की समझाइश दी है.

इसे भी पढ़े- देख रहे हैं गृहमंत्री जी…. राजधानी रायपुर में 24 घंटे में दो हत्या, एक संदिग्ध मौत ! क्या फेल हो रही है स्मार्ट पुलिसिंग ?

गृहमंत्री ने शहर में पेट्रोलिंग गश्त उठाने के निर्देश दिए है. थाने में कुर्सी जमाए बैठे पुलिस कर्मियों को कहा कि भीड़ भाड़ एरिया व सूनसान क्षेत्रों में नज़र बनाए रखे. सूचना तंत्र को मज़बूत करने के साथ त्वरित कार्रवाई के निर्देश दिए. जुआ नशा को लेकर कार्रवाई चल रही है. फिर भी पुलिस अधिकारियों को सख़्ती बरतने कहा है.

इसे भी पढ़े- डीजीपी साहब क्या ये है राजधानी में आपकी पुलिसिंग, कहीं हत्या.. कहीं लूट.. कहीं चाकूबाजी, फिर एक वारदात

पहले टीआई और सिपाही गश्त करते थे लेकिन अब सीएसपी और एडिशनल एसपी भी गश्त करेंगे. मंत्री ने गश्त करने की सख्त हिदायत दी है. वहीं कॉलोनियों में गठित पुलिस मित्र व गैर राजनीतिक दलों की मीटिंग करनी है. ताकि वहां के अपराधिक घटनाओं के संबंध में जानकारी मिल सके.

बता दें कि प्रदेश में बढ़ते अपराधों को लेकर गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू ने डीजीपी, गृह सचिव समेत प्रदेश भर के आला पुलिस अधिकारियों की बैठक लिया. इस बैठक में संसदीय सचिव विकास उपाध्याय भी मौजूद रहे. इसमें अपराधों पर अंकुश लगाने की रणनीति बनाई गई.

loading...

Related Articles

loading...
Back to top button
error: Content is protected !!
 
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।