Contact Information

Four Corners Multimedia Private Limited Mossnet 40, Sector 1, Shankar Nagar, Raipur, Chhattisgarh - 492007

चंडीगढ़। पंजाब सरकार भ्रष्टाचार के मामले में जीरो टॉलरेंस नीति अपना रही है. सीएम भगवंत मान ने करप्शन की शिकायत के लिए नंबर भी जारी किया था. यहां लगातार भ्रष्टाचारियों पर कार्रवाई की जा रही है. अब ताजा मामले में 2008 बैच के सीनियर IAS अफसर संजय पोपली को गिरफ्तार किया गया है. उन पर भ्रष्टाचार का आरोप है. संजय पोपली के साथ ही सीवरेज बोर्ड के एक और अधिकारी संजीव वाट्स (सुपरिटेंडिंग इंजीनियर) की भी गिरफ्तारी हुई है.

IAS अफसर संजय पोपली

पहली किश्त के साढ़े 3 लाख रुपए ले चुके थे संजय पोपली

सीनियर IAS अफसर संजय पोपली पर आरोप है कि उन्होंने सीवरेज बोर्ड में रहते 7.3 करोड़ के प्रोजेक्ट में 1% कमीशन मांगा था. इसकी पहली किश्त दे भी दी गई थी. हालांकि दूसरी किश्त का दबाव डाले जाने पर रिकॉर्डिंग सरकार तक पहुंच गई. जिसके बाद सोमवार देर रात आईएएस ऑफिसर संजय पोपली को चंडीगढ़ से गिरफ्तार कर लिया गया. पोपली इस वक्त पेंशन डायरेक्टर थे. आज दोनों अधिकारियों को आज मोहाली कोर्ट में पेश किया जाएगा.

ये भी पढ़ें: मूसेवाला हत्याकांड : बंदूकों से काम नहीं चलता तो निशानेबाज हथगोले का करते इस्तेमाल, 6 हमलावरों में से 2 गुजरात के रहने वाले

तत्कालीन कांग्रेस सरकार के वक्त हुई डीलिंग

बता दें कि करनाल के गवर्नमेंट कॉन्ट्रैक्टर संजय कुमार ने प्रोजेक्ट में कमीशन मांगे जाने की शिकायत की थी. उन्होंने बताया कि संजय पोपली पिछली कांग्रेस सरकार में वॉटर सप्लाई एवं सीवरेज बोर्ड के CEO थे. इस दौरान नवांशहर में 7 करोड़ का प्रोजेक्ट बन रहा था. इसमें पोपली ने 1% कमीशन यानी 7 लाख की रिश्वत मांगी. ठेकेदार के मुताबिक 13 जनवरी 2022 को उन्हें कॉल आई कि पोपली रिश्वत मांग रहे हैं, जिसमें विभाग के ही सुपरिटेंडिंग इंजीनियर (SE) संजीव वाट्स के जरिए चंडीगढ़ में 3.50 लाख रुपए दे दी गई.

ये भी पढ़ें: मूसेवाला हत्याकांड: सिंगर की रेकी करने वाले मोहना को अमरिंदर सिंह राजा वड़िंग ने कराया था कांग्रेस में शामिल, पार्टी पर उठे सवाल

ठेकेदार ने कॉल रिकॉर्ड कर मुख्यमंत्री की एंटी करप्शन हेल्पलाइन को भेजा

वहीं पहली किश्त देने के कुछ ही दिन बाद संजय पोपली दूसरी किश्त के साढ़े 3 लाख रुपए भी मांगने लगे. जिससे परेशान होकर ठेकेदार ने कॉल की रिकॉर्डिंग कर मुख्यमंत्री की एंटी करप्शन हेल्पलाइन को भेज दिया. शिकायत सही पाए जाने पर विजिलेंस ने पोपली को उनके चंडीगढ़ के सेक्टर 20 स्थित घर से गिरफ्तार कर लिया. उनके साथी आरोपी संजीव वाट्स को जालंधर से गिरफ्तार किया गया.