दिवाली से पहले मोदी सरकार का इंडस्ट्री को तोहफा, हुई ये 12 बड़ी घोषणाएं… चमका शेयर मार्केट

नई दिल्ली. नरेद्र मोदी सरकार ने दिवाली से पहले अर्थव्यवस्था को बूस्ट देने के लिए इंडस्ट्री के लिए कई बड़ी घोषणाएं की है. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने एक अध्यादेश लाकर घरेलू कंपनियों, नयी घरेलू विनिर्माण कंपनियों के लिये कॉरपोरेट कर कम करने का प्रस्ताव दिया. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने घरेलू मैन्युफैक्चरिंग कंपनी के लिए कॉरपोरेट टैक्स में कटौती के अलावा कैपिटल गेन टैक्स से सरचार्ज हटाने की भी घोषणा की है. आज 20 सितंबर को गोवा में होने वाली जीएसटी परिषद की बैठक होने वाली है. वित्त मंत्री ने जीएसटी बैठक से पहले इंडस्ट्री के लिए कई बड़ी घोषणाएं की है.

वित्त मंत्री ने कही ये अहम बातें..

  1. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि यदि कोई घरेलू कंपनी किसी प्रोत्साहन का लाभ नहीं ले तो उसके पास 22 प्रतिशत की दर से आयकर भुगतान करने का विकल्प होगा.
  2.  जो कंपनियां 22 प्रतिशत की दर से आयकर भुगतान करने का विकल्प चुन रही हैं, उन्हें न्यूनतम वैकल्पिक कर का भुगतान करने की जरूरत नहीं होगी. अधिशेषों और उपकर समेत प्रभावी दर 25.17 प्रतिशत होगी.
  3.  एक अक्टूबर के बाद बनी नयी घरेलू विनिर्माण कंपनियां बिना किसी प्रोत्साहन के 15 प्रतिशत की दर से आयकर भुगतान कर सकती हैं.
  4.  नयी विनिर्माण कंपनियों के लिये सभी अधिशेषों और उपकर समेत प्रभावी दर 17.01 प्रतिशत होगी.
  5.  अभी छूट का लाभ उठा रही कंपनियां इनकी अवधि समाप्त होने के बाद कम दर पर कर भरने का विकल्प चुन सकती हैं.
  6.  वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने घरेलू मैन्युफैक्चरिंग कंपनी के लिए कॉरपोरेट टैक्स में कटौती की घोषणा की है.
  7.  कैपिटल गेन टैक्स से सरचार्ज हटाने की भी घोषणा की.

  1.  प्रतिभूति लेन-देन कर की देनदारी वाली कंपनियों के शेयरों की बिक्री से हुए पूंजीगत लाभ पर बजट में प्रस्तावित अतिरिक्त अधिशेष नहीं होगा लागू.
  2.  फपीआई के पास मौजूद डेरिवेटिव समेत किसी भी प्रतिभूति की बिक्री से होने वाले पूंजीगत लाभ पर नहीं लगेगा धनाढ्य उपकर.
  3.  शेयरों की पुनर्खरीद की घोषणा पांच जुलाई से पहले करने वाली कंपनियों पर नहीं लगेगा टैक्स.
  4.  कॉरपोरेट कर की दर घटाने से राजस्व में सालाना 1.45 लाख करोड़ रुपये की कमी का अनुमान : सीतारमण .
  5.  वित्त मंत्री ने कहा कि कर छूट से मेक इन इडिया‍ में निवेश आएगा, रोजगार सृजन और आर्थिक गतिविधियों में तेजी आएगी, इससे राजस्व बढ़ेगा.

ऑटो सेक्टर को और राहत की उम्मीद

ऑटो सेक्टर में लगातार 10वें महीने गिरावट देखने को मिली है और उसे राहत की उम्मीद है. वाहनों की बिक्री 31 साल के निचले स्तर पर पहुंच गई है. कारों की बिक्री तो अगस्त में पिछले साल के मुकाबले 41 फीसदी नीचे आई है. यह 1997-98 के बाद ऑटो सेक्टर का सबसे बुरा दौर है.

अटके आवासीय प्रोजेक्ट के लिए पैकेज संभव

सरकार नए प्रोत्साहन के तौर पर रियल एस्टेट की अटकी आवासीय परियोजनाओं के लिए भी पैकेज ला सकती है. सूत्रों का कहना है कि सरकार की कोशिश ऐसी परियोजनाओं के लिए कोष मुहैया कराने की है, ताकि लंबे समय से घर का इंतजार कर रहे खरीदारों को राहत मिल सके. कई प्रोजेक्ट के प्रबंधन का काम एनबीसीसी को सौंपा गया है, लेकिन फंड की कमी से काम आगे नहीं बढ़ पा रहा है. इसके लिए दस हजार करोड़ रुपये का फंड बनाया जा सकता है.

सुबह इस स्तर पर खुला था शेयर बाजार

शुक्रवार को शेयर बाजार में मामूली तेजी के साथ शुरुआत हुई. आज सेंसेक्स 48.14 अंक की तेजी के साथ 36141.61 अंक के स्तर पर खुला. वहीं निफ्टी 9.80 अंक की तेजी के साथ 10714.60 अंक के स्तर पर खुला. आज जब शेयर बाजार खुला तो 405 शेयर तेजी के साथ तो 231 शेयर गिरावट के साथ खुले. इसके अलावा 28 शेयरों के रेट में कोई बदलाव नहीं हुआ. वहीं शुक्रवार को रुपये में मजबूती के साथ शुरुआत हुई। आज डॉलर के मुकाबले रुपया 18 पैसे की मजबूती के साथ 71.14 रुपये के स्तर पर खुला.

ट्रेंडिंग न्यूज

  1. बेबाक रोनाल्डो बोल- गोल पोस्ट में बॉल डालने से ज्यादा सुखद है गर्लफ्रेंड के साथ ‘वो’ पल बिताना…
  2. बॉयफ्रेंड संग मालदीव में छुट्टियां बिता रही हैं सुष्मिता सेन, देखे रेड बिकिनी में ये फोटो हुईं वायरल
  3. पीली साड़ी वाली पोलिंग बूथ अफसर अब पीले मिनी स्कर्ट में हो गई ट्रोल… देखे Video

 

Related Articles

Back to top button
Close
Close
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।