MP में 15 जून से समर्थन मूल्य पर होगी मूंग की खरीदी, सिर्फ इतने जिलों के किसान बेच सकेंगे अपनी उपज

शब्बीर अहदम, भोपाल। मध्य प्रदेश में अब किसान न्यूनतम समर्थन मूल्य पर मूंग की फसल भी बेच सकेंगे. इसके संबंध में कृषि मंत्री कमल पटेल ने रविवार को घोषणा कर दी है. प्रदेश में 15 जून से किसानों की मूंग खरीदी शुरु हो जाएगी. इसके लिए किसानों को अपनी मूंग की फसल बेचने के लिए 16 जून तक पंजीयन कराना अनिवार्य होगा.

इसे भी पढ़ें : MP में ‘युवा शक्ति कोरोना मुक्ति’ अभियान चलाएगी सरकार, कॉलेज Student कोविड और वैक्सीन के लिए लोगों को करेंगे जागरुक

कृषि मंत्री कमल पटेल के मुताबिक समर्थन मूल्य पर खरीदी 15 जून से शुरु होकर 90 दिनों तक चलेगी. मूंग का समर्थन मूल्य 7196 रूपये प्रति क्विंटल तय किया गया है. हालांकि बारिश को देखते हुए गोदामों को अंदर मूंग खरीदी का फैसला सरकार ने लिया है. किसानों से कृषि मंत्री ने अपील की 16 जून तक किसान पंजीयन करवाएं.

इसे भी पढ़ें : कांग्रेस विधायक ने वीकली लॉकडाउन का किया उल्लंघन, बीजेपी ने प्रशासन से की कार्रवाई करने की मांग

बता दें कि 8 जून किसान कल्याण एवं कृषि विकास विभाग द्वारा गर्मी के दिनों में उगाई जाने वाली जायद की मूंग की फसल को न्यूनतम समर्थन मूल्य पर खरीदी पंजीयन का मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शुभारंभ किया था. मध्य प्रदेश के कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री कमल पटेल के मुताबिक ग्रीष्म कालीन मूंग की 4 लाख 77 हज़ार हेक्टेयर में बुवाई हुई है. अनुमान है कि पहली बार 6 लाख 56 हज़ार मिट्रिक टन खरीदी की जाएगी.

इसे भी पढ़ें : MP में कोरोना मीटर हुआ डाउन, 274 नए केस और 18 लोगों की मौत, जानिए जिलेवार आंकड़े ?

इन जिलों में होगी मूंग खरीदी

इन जिलों में होगी मूंग खरीदी ग्रीष्म कालीन मूंग का उपार्जन केवल 25 जिलों में किया जाएगा. किसान कल्याण और कृषि विकास मंत्रालय ने 7 जून के आदेश में बताया कि प्रदेश के 25 जिलों में मूंग और 12 जिलों में उड़द की फसल का उपार्जन किया जाएगा. जिन जिलों में मूंग उपार्जित की जानी है उनमें जबलपुर, कटनी, बालाघाट, सिवनी, मंडला, नरसिंहपुर, सागर, दमोह, रीवा, इंदौर, खरगौन, बड़वानी, खंडवा, देवास, आगर मालवा, मुरैना, भिंड, गुना, सीहोर, रायसेन, विदिशा, होशंगाबाद, हरदा, बैतूल और छिंदवाड़ा शामिल है. उड़द उपार्जन के लिए जबलपुर, कटनी, बालाघाट, सिवनी, मंडला, नरसिंहपुर, रीवा , दमोह, आगर मालवा, छिंदवाड़ा, सिंगरौली और डिंडोरी ज़िला को शामिल किया गया है.

इसे भी पढ़ें : राजधानी में अतिक्रमण हटाने गई वन विभाग पर ग्रामीणों ने किया हमला, 30 से 35 जवान घायल

हमारे whatsapp ग्रुप से जुड़ने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें

 

Related Articles

Back to top button
 
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।